जब राजकपूर को करना पड़ा शशिकपूर के डेट्स का इंतज़ार

0
1006
Film Actor Raj Kapoor and Shashi Kapoor (right) (Brothers) at ‘Filmfare’ Award Function in Bombay, 1976.

शशि कपूर अपने समय के व्यस्ततम अभिनेताओं में से एक रहे हैं।एक समय तो शशि कपूर इतने व्यस्त हो गए थे कि उनसे मिलना ही संभव नहीं होता था. वह एक दिन में चार-पांच शिफ़्ट में काम करते थे और चार-पांच फ़िल्मों की एक से दूसरी लोकेशन में भागते रहते थे और हर फिल्म को कुछ घंटे ही देते थे.इस समय शशि कपूर के पास 150 फिल्मों के अनुबंध थे ।

वह एक दिन में तीन या चार फिल्मों की शूटिंग में पहुंच जाते थे। यह देख उनके बड़े भाई राज कपूर ने उन्हें टैक्सी का खिताब देते हुए कहा था कि जब बुलाओ तब आ जाती है लेकिन हमेशा मीटर डाउन रहता है। ऐसी तल्ख टिप्पणी का एक कारण यह भी था कि शशि राज साहब की फिल्म ‘सत्यम शिवम सुन्दरम’ तक के लिए समय नहीं निकाल पा रहे थे।

काफी मशक्कत के बाद भी जब राज कपूर शशि की डेट्स नहीं ले पाए तो उन्होंने सत्यम शिवम् सुंदरम में राजेश खन्ना और डिम्पल कपाड़िया को कास्ट करने का मन बनाया। जब ये बात राज कपूर के बेटे रणधीर कपूर को पता चली तो उन्होंने अपने पिता से पूछा कि जब घर में उनके जैसा हीरो मौजूद है तो बाहर से किसी को कास्ट करने की क्या जरूरत है। बेहतर है वो उन्हें ही इस फिल्म में कास्ट कर लें। तब राज कपूर ने उनसे कहा था कि कपूर खानदान में तो बस एक ही एक्टर है और वो है शशि कपूर। आखिरकार राज कपूर अपने भाई शशि को लेकर फिल्म पूरी करने में कामयाब रहे। सत्यम शिवम् सुंदरम के बाद राज कपूर ने फिर कभी शशि कपूर के साथ फिर कभी काम नहीं किया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here