छोटे परदे पर फ्लॉप क्यों रहे ये बॉलीवुड सितारे

0
117

बॉलीवुड में कई ऐसे सितारे हैं जिन्होंने अपनी फिल्मों से दर्शकों के दिलों पर राज किया और फिर छोटे पर्दे की ओर भी रुख किया। लेकिन बड़े परदे के इन सितारों को छोटे परदे पर ज्यादा कामयाबी नहीं मिली. इनमें अगर अमिताभ, शाहरुख़ और सलमान जैसे बड़े बॉलीवुड सितारों को छोड़ दें तो ज्यादातर सितारे टीवी पर फिसड्डी ही साबित हुए। डालते हैं नजर उन सितारों पर जो छोटे परदे पर नाकामयाब रहे

श्रीदेवी: श्रीदेवी ने ‘मालिनि  अय्यर’ शो से अपने छोटे पर्दे की शुरूआत की थी। यह शो 2004 से 2005 तक चला था। इस शो की कहानी श्रीदेवी के चुलबुले किरदार के आस-पास घुमती थी। लेकिन दुर्भाग्यवश दर्शकों को यह शो इतना रास नहीं आया और महज कुछ दिनों बाद ही इसको बंद करना पड़ा था।

करिश्मा कपूर
करिश्मा कपूर ने सहारा टीवी के सीरियल ‘करिश्मा का करिश्मा ‘ से छोटे परदे पर शुरुआत की लेकिन श्रीदेवी की तरह करिश्मा को भी दर्शकों ने टीवी पर पसंद नहीं किया या ये सीरियल सहारा के लिए घाटे का सौदा साबित हुआ।

रवीना टंडन- बिंदास अभिनेत्री रवीना टंडन ने सन 2004 में ‘साहिब बीवी और गुलाम’ नाम के शो में छोटी बहु का किरदार निभाया था लेकिन दर्शको ने उनके इस रूप को पसंद नहीं किया।

पूनम ढिल्लो-बड़े पर्दे से छोटे पर्दे का रुख करने वाली पूनम ढिल्लो का जादू कम नहीं हुआ है। सोनी चैनल पर शुरू हुए पूनम ढिल्लो के टीवी शो ‘एक नई पहचान’ के उनके किरदार को न सिर्फ आम दर्शकों ने जमकर पसंद किया। शो बहुत लंबा तो नहीं चला लेकिन इस शो को दर्शकों से प्यार जमकर मिला।

 

सोनाली बेंद्रे- सोनाली ने 2014 में लाइफ ओके के ‘अजीब दास्तान है ये’ शो में हाथ आजमाया था लेकिन दर्शकों को यह शो भी पसंद नहीं आया।

अभिनेत्रियों के मुकाबले अभिनेताओं का ट्रैक रिकॉर्ड ज्यादा बेहतर रहा। अमिताभ बच्चन,सलमान खान और शाहरुख़ खान ने गेम शो को जरिये टीवी पर भी धाक जमाई लेकिन सब ऐसे खुशनसीब नहीं रहे.

सालों पहले गोविंदा ज़ीटीवी पर छप्पर फाड़ के नाम का एक गेम शो लेकर और फ्लॉप रहे। इस गेम शो को मनीषा कोईराला ने भी होस्ट किया था। लेकिन ना ये सितारे चले और ना ही ये गेम शो. शाहरुख खान की पांचवीं पास भी फेल रही। अनिल कपूर ने 2013 में टीवी शो ’24’ से अपने करियर की शुरूआत की थी। ये शो एक सीरीज फॉरमैट में पेश किया गया था, जिसको दर्शकों से जमकर प्यार मिला था। जिसके बाद ये एक फिर से 2016 में दर्शकों के लिए आया इसमें भी अनिल कपूर लीड रोल में थे। छोटा पर्दा फिल्मों के मुकाबले ज्यादा डेडिकेशन और स्वाभाविकता की डिमांड करता है केवल स्टारडम के सहारे दर्शकों का दिल नहीं जीता जा सकता।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here