Raj Kapoor के निर्देशन में Kumar Gaurav को लांच करना चाहते थे Rajendra Kumar,हुई ये गड़बड़

0
109

‘खोटा सिक्का’ की पिछली कड़ी में हमने आपको बताया था कि बेटे कुमार गौरव के हीरो बनने की जिद्द को नकारते हुए राजेंद्र कुमार ने उन्हें राज कपूर को असिस्टेंड बना दिया. जो उन दिनों फिल्म ‘सत्यम शिवम् सुंदरम का निर्माण कर रहे थे. कुमार दो सालों तक राज कपूर से जुड़े रहे। जब ये फिल्म रिलीज हो गई तो एक दिन वो फिर अपने पिता के पास पहुंचे और फिल्मों में हीरो बनने की अपनी ख्वाहिश जाहिर की। इस बार फिर राजेंद्र कुमार ने उनके सामने स्क्रीन टेस्ट में पास होने की शर्त रखते हुए कहा कि अ गर तुम स्क्रीन टेस्ट में पास हो गए तो मैं खुद तुम्हारे लिए फिल्म प्रोड्यूस करूंगा .वरना तुम्हें अपना संघर्ष खुद करना होगा .कुमार गौरव ने पिता की ये शर्त मान ली .आर के स्टुडियो में उनका स्क्रीन टेस्ट रखा गया .लेकिन वो राज कपूर जैसे फिल्मकार के सामने नर्वस हो गए और इस टेस्ट में फेल रहे .इससे नाराजराजेन्द्र कुमार ने कुमार गौरव को डांटते हुए कहा था -दो साल राज कपूर के साथ काम करने के बाद भी तुम फेल हो गए .तुम एक्टर बनने के लायक नहीं हो.

राज कपूर की सलाह पर राजेंद्र कुमार ने अपने बेटे को रोशन तनेजा की एक्टिंग स्कूल में भेज दिया .छः महीने बाद जब कुमार गौरव स्क्रीन टेस्ट में पास हो गए तब जाकर राजेंद्र कुमार ने फिल्म ‘लव स्टोरी’ के जरिये उन्हें बॉलीवुड में लांच कर दिया लव स्टोरी 1981 में रिलीज हुई और सुपर-डुपर हिट रही और इसके साथ ही कुमार गौरव भी स्टार बन गए .

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here