18 साल लिव इन रिलेशन रहने के बाद नागार्जुन ने तब्बू को क्यों दिया धोखा !

0
132
47 साल की अभिनेत्री तब्बू आज भी किसी सूटेबल बॉय के इंतज़ार में है. लेकिन ऐसा भी नहीं है कि तब्बू के सपने में कभी कोई राजकुमार नहीं आया. संजय कपूर से लेकर नागार्जुन तक तब्बू कई लोगों के साथ सुनहरे भविष्य का सपना देख चुकी है. ये अलग बात है कि उनके सपनों को मंजिल नहीं मिल पाई. तब्बू के अफेयर्स में से सबसे ज्यादा सीरियस था नागार्जुन के साथ उनके 18 साल तक चलने वाला अफेयर. ऐसा माना जाता था कि तब्बू नागार्जुन की अघोषित बीबी बन चुकी है. पहली पत्नी से तलाक के बाद तब्बू ने न केवल नागार्जुन का घर संभाला बल्कि उनके बेटे की देखरेख भी की. लेकिन जब नागार्जुन को दूसरी शादी की जरुरत महसूस हुई तो उन्होंने तब्बू के बजाय अमला को चुना. आखिर क्यों नागार्जुन तब्बू से शादी नहीं कर पाए. आइये जानते हैं इसकी वजह..!!

तेलगु फिल्म में नागार्जुन ने पहली बार तब्बू को वेंकटेश की हीरोइन के रूप में देखा था. इसके बाद नागार्जुन अपनी फिल्म Ninne Pelladata का ऑफर लेकर तब्बू के पास पहुंच गए. नागार्जुन बड़े स्टार थे भला तब्बू कैसे इंकार करती. नागार्जुन एक तो स्वभाव से ही दिलफेंक रहे हैं ऊपर से उन्हीं दिनों उनका तलाक भी हुआ था. जाहिर है कोई ना कोई अफ़साना तो बनना ही था. तब्बू भी खुद को नागार्जुन के प्रेमजाल से नहीं बचा पाई.

तब्बू ने मुंबई छोड़ हैदराबाद को ही अपना ठिकाना बना लिया. नागार्जुन ने हैदराबाद में तब्बू को एक बड़ा सा बंगला खरीदकर दे दिया, ताकि उन्हें हैदराबाद में ज्यादा दिक्कत ना हो. बंगले के बावजूद तब्बू का ज्यादा समय नागार्जुन के घर पर ही बितता. अगर ये बात किसी को अखाद्ती थी तो वो थे नागार्जुन के पिता नागेश्वर राव. मुस्लिम पृष्ठभूमि के कारण तब्बू नागेश्वर राव को बिलकुल पसंद नहीं थी. आखिरकार पिता के दबाव में नागार्जुन ने अमला से शादी कर तब्बू की रही सही उम्मीदों पर भी पानी फेर दिया. आखिरकार 18 सालों का ये रिश्ता टूट गया और तब्बू हैदराबाद से मुंबई लौट आई.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here