जब देव आनंद ने वहीदा रहमान को साड़ी उतारने के लिए किया मजबूर…!!

0
34
वहीदा रहमान शायद अपने ज़माने की पहली ऐसी अभिनेत्री होगी जो देव आनंद की शक्ल तक नहीं देखना चाहती थी, या यूँ कहें कि उन्हें देव आनंद के नाम से ही नफरत थी. जिस वहीदा ने देव साहब के साथ ‘काला बाज़ार’ और ‘गाइड’ जैसी सफल फ़िल्में दी आखिर उन्हें देव साहब से ऐसी क्या एलर्जी हो गई कि उन्होंने बाद में कई फ़िल्में इसलिए छोड़ दी क्योंकि उसके हीरो देव आनंद थे. साल 1970 में आई ‘ख़ामोशी’ ऐसी ही एक फिल्म थी जिसमें हीरो पहले देव आनंद थे, लेकिन बाद में वहीदा की जिद के कारण फिल्म से देव आनंद को निकालकर राजेश खन्ना को ले लिया गया था.

बता दें कि घटना फिल्म ‘गाइड’ के निर्माण के दौरान की है. गाइड के लिए वहीदा रहमान निर्देशक विजय आनंद की पहली पसंद थी. ये फिल्म अपने समय के हिसाब से काफी बोल्ड थी जबकि वहीदा रहमान की इमेज एक कंजरवेटिव एक्ट्रेस की थी. इसलिए देव आनंद शुरुआत में वहीदा रहमान के नाम पर राजी नहीं थे. विजय आनंद के समझाने पर वो राजी हो गए. ये फिल्म हिंदी और इंग्लिश में एक साथ बन रही थी. अंगरेजी वर्जन में एक जगह वहीदा के किरदार रोजी को अपने बूढ़े पति मार्कोस के साथ बेडरूम सीन देना था, जिसके लिए वहीदा रहमान तैयार नहीं थी. देव आनंद ने इस सीन को वहीदा के डुप्लीकेट के सहारे फिल्मा लिया. गाइड का अंगरेजी वर्जन हिंदी से पहले रिलीज हो गया. जब वहीदा ने ये सीन देखा तो उसके गुस्से की सीमा नहीं रही .नाराज वहीदा ने हिन्दी वर्जन की शूटिंग बंद कर दी.

फिल्म को बीच में लटकते देख विजय आनंद और देव आनंद काफी परेशान हो गए. लाख समझाने के बावजूद जब वहीदा नहीं मानी तो देव साहब वहीदा के खिलाफ असोशिएसन में चले गए जिसके बाद वहीदा को फिल्म की शूटिंग शुरू करनी ही पड़ी. हिंदी वर्जन में एक जगह वहीदा को अपनी साड़ी खोलकर पहाड़ी से गिरते हुए देव आनंद को बचाना था. वहीदा इस सीन में साड़ी उतारने को तैयार नहीं थी. इस बार देव आनंद ने कानूनी कारवाई की धमकी देकर वहीदा को इस सीन के लिए मजबूर कर दिया. गाइड जबरदस्त हिट फिल्म साबित हुई लेकिन वहीदा को देव आनंद से इतनी नफरत हो गई कि आगे से उन्होंने देव आनंद के साथ काम ना करने की कसम ही खा ली.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here