Shocking खुलासा : करिश्मा के कन्यादान को लेकर आमने-सामने आ गए थे कपूर और बच्चन परिवार

0
179
अभिषेक बच्चन और करिश्मा कपूर के रिश्ते बनने और टूटने के पीछे बॉलीवुड में कई कहानियां प्रचलित हैं. लेकिन सारी कहानियों की जड़ में एक शख्स मौजूद है और वो हैं करिश्मा की मां बबीता. शायद ये पहली बार है जब ये खुलासा हुआ कि इस रिश्ते के टूटने की वजह रणधीर कपूर भी थे, क्योंकि वो बबीता की इस मांग को मानने को तैयार नहीं थे कि वो करिश्मा का कन्यादान नहीं करेंगे. यहां तक कि बच्चन परिवार भी बबीता की इस डिमांड के आगे खुद को असहाय महसूस कर रहा था.

अभिषेक बच्चन और करिश्मा कपूर के रिश्ते की पटकथा लिखी नंदा परिवार यानी राज कपूर की बेटी ऋतू नंदा ने. यहां ये जानना दिलचस्प है कि कभी राज कपूर रितु नंदा की शादी अमिताभ बच्चन से करना चाहते थे. लेकिन ये तो संभव नहीं हुआ, लेकिन अमिताभ बच्चन की बेटी श्वेता बच्चन नंदा परिवार की बहु जरूर बन गई.

खैर.. जब बच्चन परिवार के आगे नंदा परिवार ने अभिषेक और करिश्मा का ऑफर रखा तो बच्चन परिवार ने इसे स्वीकार कर लिया. जबकि करिश्मा अभिषेक से दो साल बड़ी थी. करिश्मा की मां बबीता को भी इससे एतराज नहीं था. लेकिन उनकी दो शर्तें थी. वो ये कि करिश्मा शादी के बाद जया बच्चन के साथ नहीं रहेंगी और दूसरी करिश्मा का कन्यादान रणधीर कपूर नहीं करेंगे.

जया बच्चन वाली बात को बच्चन ने तो ज्यादा तवज्जो नहीं दी लेकिन रणधीर कपूर के सवाल पर पेंच फंस गया. श्वेता बच्चन नंदा परिवार की बहु थी और इस शादी में रणधीर कपूर की गैरमौजूदगी बेटी के भावी जीवन पर बड़ा असर छोड़ सकती थी ये तय था .बबीता की जिद्द से सारा कपूर खानदान सदमे में था और इधर बच्चन परिवार के लिए भी स्थिति काफी असहज हो चुकी थी. इसलिए उन्होंने बबीता की इस जिद्द को मानने से साफ़ इंकार कर दिया और आज्ञाकारी बेटी की तरह करिश्मा ने भी मां का साथ दिया. नतीजतन ये रिश्ता टूट गया.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here