जब पत्नी से बदसलूकी करने पर फिरोज खान से लड़ पड़े विनोद खन्ना

0
310
फिल्म इंडस्ट्री में फ़िरोज़ खान और विनोद खन्ना की दोस्ती की मिसाल दी जाती है. दोनों ने एक साथ कुर्बानी और दयावान जैसी हिट फ़िल्में दी. दोनों की दोस्ती फिल्मों से ज्यादा निजी जीवन में ज्यादा गहरी थी. लेकिन एक बार एक घटना ऐसी घटी जब दोनों के बीच इतना तनाव पैदा हो गया कि नौबत मारपीट तक की आ गई.. आखिर क्या था मामला..? आइये जानते हैं..

1975 में फ़िरोज़ खान ने फिल्म ‘धर्मात्मा’ का निर्माण किया था जो काफी सफल रही. इस मौके पर फ़िरोज़ खान ने एक शानदार पार्टी का आयोजन किया और इंडस्ट्री के लगभग हर छोटे-बड़े कलाकारों को इस पार्टी में इनवाईट किया. पार्टी में विनोद खन्ना भी अपनी पत्नी गीतांजली के साथ मौजूद थे. पार्टी जब सुरूर पर आई तो वहां मौजूद हर मेहमान जो मिला उसी के साथ डांस करने लगे. फ़िरोज़ खान भी पूरे सुरूर में थे. अचानक उन्होंने विनोद खन्ना की पत्नी गीतांजली को पकड़ लिया और उनके साथ डांस करने लगे. डांस तक तो ठीक लेकिन जब ये डांस अपनी हद पार करने लगा तो विनोद खन्ना का माथा ठनका.

फ़िरोज़ खान पूरे सुरूर में थे और वो गीतांजलि को अपनी बांहों में लेने की कोशिश कर रहे थे, जबकि गीतांजलि खुद को खान की गिरफ्त से छुडाने की नाकाम कोशिशों में जुटी हुई थी. जब मामला हद से बाहर जाने लगा तो विनोद खन्ना को गुस्सा आ गया और उन्होंने खान को धक्का देते हुए गीतांजलि को उनकी गिरफ्त से छुड़ाया. फ़िरोज़ खान नशे में तो थे ही धक्का देने के कारण गुस्से में आ गए और वो विनोद खन्ना को गालियां देने लगे. पहले से ही नाराज खन्ना को भी गुस्सा आ गया और वो गालियों का जवाब गालियों से देने लगे.

मामला इतना बढ़ गया कि खन्ना आगे बढ़कर फ़िरोज़ खान का गिरेबान पकड़ने की कोशिश करने लगे. तभी फ़िरोज़ खान के छोटे भाई संजय खान बीच में आ गए और उन्होंने मामले को संभाला. नाराज विनोद खन्ना पार्टी छोड़कर चले गए. सुबह जब खान का नशा उतरा तो उन्हें अपने किये पर काफी पछतावा हुआ और वो माफी मांगने विनोद खन्ना के घर पहुंच गए. खन्ना ने भी इसे शराब का कमाल समझ मामले को रफा दफा करना ही बेहतर समझा. इस घटना के बाद फिरोज खान और विनोद खन्ना की दोस्ती का रंग और भी गहरा हो गया.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here