जब इस निर्मात्री ने थप्पड़ मारकर अनिल कपूर से करवाया काम

0
38

90 के दशक में अनिल कपूर एक बड़े स्टार बन चुके थे .लेकिन शुरुआती दौर जब उन्हें फिल्मों के लिए संघर्ष करना पद रहा था उस दौरान उन्होंने कई ऐसी फ़िल्में साइन कर ली थी जिसके चलने को लेकर वो खुद भी आश्वस्त नहीं थे .इसलिए स्टार बनते ही उन्होंने ऐसी फिल्मों को लटकाना शुरू कर दिया .लेकिन अपनी इस आदत के कारण अनिल कपूर एक बार निर्मात्री सुरिदर कौर के हाथों पिट गए .आइये जानते हैं क्या था पूरा मामला …

१९८२ में सुरिंदर कौर ने अनिल कपूर को फिल्म ‘जिगरवाला ‘ के लिए साइन किया था. अनिल कपूर सुरिंदर कौर के काम करने के तरीके से खुश नहीं थे .उनका ख्याल था की कौर को फिल्म के बारे में कोई समझ नहीं है .इसलिए इस फिल्म का फ्लॉप होना तय है .इस सोच के कारण अनिल कपूर शूटिंग के लिए डेट्स देने में आनाकानी कर रहे थे .काफी मान-मनौव्वल के बाद जैसे-तैसे फिल्म की शूटिंग पूरी हुई तो अनिल कपूर ने डबिंग लटका दी. फिल्म तीन साल तक लटकी रही जिसकी वजह से सुरिंदर कौर को काफी नुक्सान उठाना पडा.

एक दिन किसी पार्टी में अनिल कपूर और सुरिंदर कौर का आमना-सामना हो गया .पहले तो कौर ने उन्हें समझाने की कोशिश की उनके इस रवैये के कारण उन्हें काफी आर्थिक नुक्सान हो रहा है इसलिए वो दबिग के लिए डेट्स दे दें .फिर भी जब अनिल कपूर ना-नुकुर करते रहे तो सुरिंदर कौर का पारा चढ़ गया और उन्हें भरी महफ़िल में अनिल कपूर को एक-के बाद एक कई थप्पड़ जड़ दिए .सुरिंदर कौर के इस व्यवहार से पार्टी में मौजूद सारे लोग सन्न रह गए .लेकिन इस थप्पड़ का नतीजा ये रहा की अनिल कपूर डबिंग के लिए मान गए और तब कहीं जाकर १९९१ में ये फिल्म रिलीज हो पाई .

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here