संजय दत्त ने ऐसे डूबने से बचाया था गोविंदा का फ़िल्मी करियर

0
186

कामयाबी के दिनों में गोविंदा अपने निर्माताओं के लिए एक बड़े सरदर्द की तरह होते थे। उनसे काम करवाना अच्छे-अच्छों के वश से बाहर की बात होती थी. एक तो गोविंदा अक्सर सेट पर लेट से आते और जब जी करे शूटिंग कैंसिल कर निकल लेते थे जिसकी वजह से निर्माताओं को काफी नुकसान उठाना पड़ता था.अपनी इन्हीं आदतों के कारण एक बार गोविंदा बुरी तरह मुसीबत में फंस गए .तब संजय दत्त ने ही उन्हें मुश्किलों से बाहर निकाला था.

सुधाकर बोकाडे ने अपनी फिल्म ‘इज़्ज़तदार’ में माधुरी दीक्षित के साथ गोविंदा को कास्ट किया। फिल्म में दिलीप कुमार भी अहम् रोल निभा रहे थे। फिल्म की शूटिंग जैसे-जैसे आगे बढ़ने लगी बोकाडे गोविंदा की हरकतों से परेशान होने लगे और एक दिन उन्होंने सेट पर देर से आने के कारण गोविंदा को काफी खरी-खोटी सुनाई. दरअसल गोविंदा की इस लेटलतीफी के कारण दिलीप कुमार जैसे सीनियर एक्टर को घंटों इंतज़ार करना पड़ता था और दूसरा माधुरी दीक्षित के व्यस्त शेड्यूल के कारण निर्माता को डेट्स ही नहीं मिल पाते थे और हमेशा फिल्म का शेड्यूल आगे बढ़ाना पड़ता था. निर्माता से डांट मिलने के बाद गोविंदा काफी नाराज हो गए और उन्हें फिल्म के लिए डेट्स देने से साफ़ इंकार कर दिया जिसकी वजह से फिल्म लटकती नजर आने लगी।

गोविंदा के इस रवैये से नाराज सुधाकर बोकाडे ने उन्हें गैरकानूनी तरीकों से परेशान करना शुरू कर दिया जिससे गोविंदा काफी परेशान हो गए .बोकाडे ने अपने फ़िल्मी कनेक्शन का इस्तेमाल कर गोविंदा को कई फिल्मों से बाहर निकलवाने की मुहिम ही छेड़ दी जिसकी वजह से गोविंदा को कई बड़ी फिल्मों से हाथ धोना पड़ा .घबराए गोविंदा संजय दत्त की शरण में पहुंचे। दत्त ने बोकाडे और गोविंदा के बीच सुलह करवा दी। गोविंदा ने एकमुश्त डेट्स बोकाडे को दे दी और फिल्म पूरी हो गयी.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here