जब टीना मुनीम से नाराज संजय दत्त ने कर दी गोलियों की बौछार

टीना की बेवफाई से बुरी तरह आहत संजय दत्त दरअसल उस दिन  टीना के घर जाना चाहते थे लेकिन जब उन्हें पता चला कि टीना मुंबई में नहीं है तो उनका गुस्सा सातवें आसमान पर पहुँच गया और गुस्से में उन्होंने फायरिंग शुरू कर दी

0
117

22 मई 1982 की आधी रात .अचानक मुंबई का पाली हिल एरिया गोलियों की गडगडाहट से गूँज उठा. नींद में सोये लोग डर के दरवाजे से बाहर आए तो उन्होंने देखा कि संजय दत्त 22 बोर की राइफल से अपने ही घर पर गोलियां दाग रहे हैं.अचानक संजय दत्त पीछे मुड़े और हवाई फायर शुरू कर दिया .लोग डर के मारे अपने घरों में जा घुसे .तभी किसी ने पुलिस बुला ली .इससे पहले की पुलिस मौक़ा-ए-वारदात पर पहुँचती संजय दत्त ने खुद को घर में बंद कर लिया और पिछले दरवाजे से बाहर निकल गए .

दरअसल ये पूरा कांड टीना मुनीम को लेकर हुआ जो उन दिनों मॉरिशस में सावन कुमार की फिल्म ‘सौतन’ की शूटिंग कर रही थी. टीना मुनीम का संजय दत्त से पूरी तरह मोहभंग हो चुका था और वो राजेश खन्ना के साथ प्यार की पींगे भर रही थी. लेकिन संजय दत्त इस हकीकत को मानने के लिए तैयार ही नहीं थे. सौतन की पूरी यूनिट इंडिया वापस आ चुकी थी और संजय को उम्मीद थी की टीना उनसे जल्द मिलने आएगी .लेकिन टीना मुनीम यूनिट के साथ वापस ही नहीं आई .दत्त ने जब कुमार गौरव से टीना के बारे में पूछा तो उन्होंने बताया की टीना और काका मॉरिशस में ही छुट्टियाँ मना रहे हैं. ये जानकारी मिलते ही संजय दत्त आपे से बाहर हो गए .

उस दिन वो घर में अकेले थे.पहले तो उन्होंने जमकर शराब पी और आधी रात तक पीते रहे .टीना की इस बेवफाई से बुरी तरह आहत संजय दत्त दरअसल उस दिन  टीना के घर जाना चाहते थे लेकिन जब उन्हें पता चला की टीना मुंबई में नहीं है तो उनका गुस्सा सातवें आसमान पर पहुँच गया और गुस्से में उन्होंने फायरिंग शुरू कर दी. सुबह होते ही संजय दत्त ने खुद को पुलिस के सामने सरेंडर कर दिया और उन्हें 500 रुपये की जमानत पर उन्हें छोड़ भी दिया गया .अगर उस रात टीना मुनीम मुंबई में होती तो शायद संजय दत्त आज आजीवन जेल की सजा काट रहे होते. 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here