जब राजेश खन्ना ने सुभाष घई को किया अपमानित

0
295
अमूमन राजेश खन्ना को काफी हेकड़ीबाज और घमंडी अभिनेता माना जाता रहा है. बावजूद इसके राजेश खन्ना इंडस्ट्री में कभी किसी से उलझना पसंद नहीं करते थे. इंडस्ट्री में उनका एक ख़ास खेमा था जो खन्ना के लाख नखरों के बावजूद उनके साथ हमेशा काम करने को तैयार रहते थे. सुभाष घई ने हालांकि कभी खन्ना के साथ काम नहीं किया लेकिन दोनों एक-दूसरे को काफी पसंद करते थे. 1985 में राजेश खन्ना ने जब फिल्म ‘अलग अलग’ से फिल्म निर्माण के क्षेत्र में कदम रखा तो उन्होंने सुभाष घई को इस फिल्म के डाइरेक्शन का ऑफर दिया लेकिन घई ने इस ऑफर को ठुकरा दिया.

राजेश खन्ना के बैनर की ये पहली फिल्म थी और वो इस फिल्म को भव्य तरीके से बनाना चाहते थे. सुभाष घई उन दिनों सफल निर्देशक के तौर पर खुद को स्टैब्लिश कर चुके थे इस लिए खन्ना के दिमाग में डाइरेक्शन के लिए सबसे पहला नाम घई का ही आया. खन्ना सुबह-सुबह घई के घर पहुंचे और उन्हें कहानी सुनाते हुए फिल्म को डाइरेक्ट करने की गुजारिश की जिसे घई ने नहीं माना. घई का कहना था कि वो केवल अपनी ही लिखी कहानियों पर बनने वाली फिल्म को डाइरेक्ट करते हैं. घई के इस इंकार से खन्ना काफी आहत हुए और उन्होंने शक्ति सामंत को इस फिल्म के लिए साइन कर लिया.

अभिनेत्री बिंदु की एक पार्टी में खन्ना और घई टकरा गए. घई को देखते ही काका का पारा चढ़ गया. नशे में तो थे ही उन्होंने घई को गालियां बकनी शुरू कर दी. जैसे ही घई ने पलटकर जवाब देना शुरू किया काका ने घई को तड़तड़ कई चांटे जड़ दिए. उन्होंने घई को अपमानित करते हुए कहा ये ऐसा शख्स है जो अपनी बीबी से एक बच्चा तक पैदा नहीं कर सकता. खन्ना की इस बात से घई तिलमिला कर रह गए और पार्टी से चलते बने.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here