जब आएशा जुल्का का दुपट्टा उतारने की जिद्द पर अड़ गए मेहुल कुमार

0
299
अभिनेत्री आयशा जुलका ने नाना पाटेकर के साथ फिल्म ‘आंच’ में एक बेहद बोल्ड सीन के जरिये अपनी इमेज हॉट अभिनेत्री की बना ली थी. जाहिर है उन्हें अपनी फिल्म में लेनेवाला हर निर्माता उनसे ऐसे ही सीन्स की अपेक्षा रखता था. लेकिन आयशा बोल्ड सीन तो करती थी लेकिन सिर्फ चुनिंदा लोगों के लिए और चुनिंदा लोगों के ही साथ. शायद उनकी लिस्ट में निर्देशक मेहुल कुमार का नाम शामिल नहीं रहा होगा. इसलिए जब मेहुल कुमार की साल 1991 में बनी फिल्म ‘मीत मेरे मन के’ में दुपट्टा हटाकर सीन देने को कहा तो आयशा ने सेट पर हंगामा मचा दिया.

साल 1991 में निर्देशक मेहुल कुमार आयशा जुल्का और बंगाली अभिनेता प्रसेनजित को लेकर फिल्म ‘मीत मेरे मन के’ बना रहे थे. इस फिल्म के सीन में मेहुल ने आयशा से कहा कि वो अपना दुपट्टा हटाकर ये सीन दें. आयशा ने इससे इंकार कर दिया. उनका कहना था कि उन्होंने काफी टाईट कपडे पहन रखे हैं. दुपट्टा हटाने से सीन वल्गर लगेगा. लेकिन मेहुल यही तो चाहते थे. इस बात को लेकर दोनों में ठन गई और दोनों अपने-अपने जिद्द पर अड़ गए.

मेहुल को ये समझ में नहीं आ रहा था कि जो आयशा बोल्ड सीन्स में ऐतराज नहीं करती उसे दुपट्टा हटाने से भला क्या गुरेज हो सकता है. बात बढ़ी और शूटिंग रूक गई. बात यहीं ख़त्म नहीं हुई, आयशा ने मीडिया में मेहुल कुमार पर आरोपों की झड़ी लगा दी. इतना हंगामा करने के बावजूद कुछ हल नहीं निकला और एक दिन आयशा मेहुल की डिमांड पूरी करने के लिए तैयार हो गई. दरअसल ये पूरी तरह एक पीआर गेम था जिसका मकसद आयशा को चर्चा में बनाए रखना था. आयशा के ऐसे टोटकों के कारण ही उनका करियर वक्त से पहले ही ख़त्म हो गया.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here