क्या हुआ जब हजारों की भीड़ से अकेले भिड़ गए Dharmendra

0
95

दोस्तों ! बॉलीवुड में एक दुबला-पतला हीरो भी कई मुस्टंडों को ढेर कर सकता है। लेकिन असल ज़िंदगी में इनके वश का कुछ नहीं होता। लेकिन कुछ अभिनेता ऐसे भी हैं जिनमें वाकई काफी डेयरिंग होती है. धर्मेंद्र भी उनमें से एक है। आज ‘dare देओल्स’ में धर्मेंद्र के एक डेयरिंग एक्ट का किस्सा आपको सुनाते हैं जब वो हजारों की भीड़ से अकेले भिड़ गए थे।

धर्मेंद्र साल 1985 में फिल्म ‘करिश्मा कुदरत का’ कर रहे थे। इस फिल्म की शूटिंग एक गांव में हो रही थी। इस फिल्म में मिथुन चक्रवर्ती, रति अग्निहोत्री समेत शक्ति कपूर और जूनियर महमूद भी थे। फिल्म यूनिट के सभी मेंमर होटल में थे तभी होटल को गांव वालों ने घेर लिया था। करीब 200 लोग हथियार के साथ गुस्से में होटल में आए सभी टूरिस्ट को मारने पर आमदा थे।असल में गांव की किसी लड़की को होटल में रहने वाले किसी टूरिस्ट ने छेड़ दिया था और इसे नाराज लोग हर टूरिस्ट को मारने पर आमदा थे।धर्मेंद्र को जब ये बात पता चली तो वह तुरंत कमरे से बाहर आए और गांव वालों के बीच जाकर उन्हें समझाने लगे।भीड़ को देखकर हर कोई दुबक गया था लेकिन धर्मेंद्र अकेले वहां गए और लोगों को कहा कि अगर उनकी फिल्म यूनिट ने कुछ ऐसा किया है तो वह खुद उनका साथ देंगे और सजा दिलाएंगे। लेकिन कोई उनकी बात सुनने को तैयार नहीं था। तभी उग्र भीड़ में से किसी ने उन्हें धक्का दे दिया। गुस्साए धर्मेंद्र ने एक जोरदार मुक्का उसके मुंह पर दे मारा जिससे भीड़ और भी भड़क उठी। इससे पहले की मामला तूल पकड़ता होटल मैनेजमेंट ने पुलिस बुला ली जिसके बाद भीड़ को तितर-बितर कर दिया गया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here