जब ऋषि कपूर-नीतू सिंह की शादी में धर्मेन्द्र ने किया हंगामा

0
387
धर्मेन्द्र पाजी को शराब के काफी पुराने शौक़ीन हैं. जब उन्हें चढ़ जाती है तो फिर वो सबका मजा ख़राब कर देते हैं. एक ऐसा ही नजारा दिखा ऋषि कपूर और नीतू सिंह की शादी में जब धर्मेन्द्र ने पार्टी शुरू होने से पहले ही काफी शराब पी ली और पार्टी शुरू होते ही रंग में भंग कर दिया.

1980 में राज कपूर ने ऋषि कपूर और नीतू सिंह की शादी की खुशी में एक भव्य पार्टी का आयोजन किया था जिसमें इंडस्ट्री के सारे दिग्गजों को आमंत्रित किया गया था. ये पार्टी शाम सात बजे शुरू होने वाली थी लेकिन धर्मेन्द्र, शत्रुघ्न सिन्हा को लेकर साढ़े चार बजे ही आर के स्टूडियो पहुँच गए. पार्टी का आयोजन यहीं रखा गया था. धर्मेन्द्र और शत्रुघ्न सिंह दीवार फांदकर स्टूडियो में घुस गए और वहां पहुँच गए जहां राज कपूर मेहमानों के खाने की निगरानी में जुटे हुए थे. धर्मेन्द्र को देखते ही राज कपूर ने उन्हें प्यार से बैठाया और नौकर से उन्हें पानी देने को कहा जिसके जवाब में धर्मेन्द्र ने वहां रखी व्हिस्की की बोतल उठा ली और एक के बाद एक कई घूँट गले में उतार दिए.

धर्मेन्द्र को इस तरह पीते देख हालाँकि राज कपूर ने तो कुछ नहीं कहा लेकिन उनके एक नौकर ने धर्मेन्द्र के हाथों से बोतल छीन ली और कहा की बेहतर होगा वो पार्टी शुरू होने का इंतज़ार करें. इस तरह बोतल छीने जाने से नाराज पाजी ने उस नौकर को इतने जोर का धक्का मारा की वो सीधे लॉन में जा गिरा. धर्मेन्द्र को गुस्से में देख राज कपूर ने उन्हें शांत रहने की विनती करते हुए बोतल उनके हाथों में थमा दी और पाजी ने पूरी बोतल गले में उतार दी.

पार्टी शुरू होते ही धर्मेन्द्र पूरी तरह रौब में आ चुके थे. इस पार्टी में महाराष्ट्र के एक मंत्री को भी इनवाईट किया गया था. उनकी पत्नी धर्मेन्द्र की दीवानी थी. जैसे ही उनकी पत्नी धर्मेन्द्र से हाथ मिलाने आई पाजी ने उनसे फ़्लर्ट करना शुरू कर दिया. पाजी कभी उन्हें चूमते तो कभी उन्हें गले से लगा लेते. जैसे ही मंत्री के बॉडी गार्ड की नजर धर्मेन्द्र की इस हरकत पर पड़ी वो वहां जमा हो गए. मामला गंभीर होते देख शत्रुघ्न सिन्हा ने धर्मेन्द्र को जबरन पार्टी से बाहर निकाला और गाडी में बैठ कर वहाँ से रवाना हो गए. बाद में सारे मेहमान धर्मेन्द्र को पार्टी में ढूँढने लगे लेकिन तब तक पाजी घर पहुँच कर सो चुके थे.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here