जब Jackie Shroff से डर गया दाउद इब्राहिम,निर्माता की मदद से किया इंकार

0
218

फिल्मों में आने से पहले जैकी श्रॉफ अपने तीन बत्ती चाल में जग्गू दादा के नाम से मशहूर थे .उनकी एक गैंग हुआ करती थी जिसमें कई लड़के शामिल थे और वक़्त पड़ने पर हफ्तावसूली से लेकर मारपीट करने या किसी को धमकाने का भी काम किया करते थे .जग्गू दादा इस गैंग के सरदार थे .जाहिर है उस समय मुंबई में पनप रहे दादाओं के बीच भी जग्गू की अच्छी खासी पहचान थी .उनका ये जान -पहचान जग्गू दादा के तब बहुत काम आई जब वो फिल्मों में आए .उनका पिछ्ला रिकॉर्ड देखते हुए कोई भी उनसे उलझने की जुर्रत नहीं करता था .एक बार तो ऐसा हुआ कि खुद underworld don दाउद इब्राहिम जैकी का नाम सुनकर प्रोड्यूसर समीर-हनीफ की मदद करने से इनकार कर दिया .क्या था मामला ? आइये जानते हैं…

90 के दशक में underworld बॉलीवुड पर अपनी पूरी पकड़ बना चुका था .यहाँ कुछ ऐसे निर्माता भी थे जो स्टारों के नखरों से तंग आकर underworld की शरण में चले जाते और अपनी शर्तों पर उन्हें काम करने को मजबूर कर देते .ऐसी ही एक निर्माता जोड़ी थी समीर हिंगोरा और हनीफ कडावाला जो दाउद इब्राहीम का काफी करीबी हुआ करता था .1992 में वो असरानी के निर्देशन में जैकी श्रॉफ और दिव्या भारती को लेकर फिल्म ‘दिल ही तो है ‘ बना रहे थे .जैकी उन दिनों काफी बिजी थे .इसलिए वो इस फिल्म के लिए डेट्स नहीं दे पा रहे थे और फिल्म लेट हुई जा रही थी .समीर-हनीफ के काफी गुजारिश के बाद भी जब जैकी इस फिल्म के डेट्स देने को राजी नहीं हुए तो समीर-हनीफ अपने आका टाइगर मेमन के जरिये दाउद तक जा पहुंचे और उससे गुजारिश की कि जैकी श्रॉफ को अपनी शैली में समझाएं या धमकाएं .लेकिन दाउद ने जब जैकी का नाम सुना तो उसने समीर-हनीफ से साफ़ कह दिया कि वो जैकी को नहीं धमका सकते .क्योंकि जैकी से उनके ताल्लुकात काफी अच्छे हैं और इस बात के लिए वो जैकी से अपना रिश्ता खराब नहीं करना चाहते .जब दाउद ने ही हाथ खड़े कर लिए तो भला किसकी हिम्मत होती कि वो समीर-हनीफ की मदद करता .आखिरकार वही हुआ .समीर-हनीफ को जग्गू दादा की शरण में आना पडा और जैकी ने अपनी सहूलियत के हिसाब से फिल्म पूरी की .जैकी को यूँ ही जग्गू दादा नहीं कहा जाता .बॉलीवुड में underworld का जब प्रभाव था तब जैकी इंडस्ट्री के सबसे ताकतवर शख्स हुआ करते थे .

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here