The Lost Stars : काफी दर्दनाक अंत रहा इन सितारों का

0
279

अक्‍सर लोग फिल्‍मी दुनिया की लाइट, कैमरा, एक्‍शन और यहां की लग्‍जरीयिस लाइफ से अट्रैक्ट हुए दिखाई देते है। ज्यादातर लोगों को लगता है कि यहां से जुड़े हर इंसान की जिंदगी मस्‍ती और आराम से भरी होती है ….गुमनामी और गरीबी का तो यहां से दूर-दूर तक कोई नाता ही नहीं है… जबकि हकीकत में ऐसा नहीं है… क्यूंकि कई ऐसे बड़े बॉलीवुड कलाकार हैं जो एक वक़्त पर गुमनामी की जिंदगी जीने को भी मजबूर हुए।

बॉलीवुड में अभिनेता और निर्देशक रहे भगवान दादा एक ऐसा नाम है जिसे कभी नहीं भुलाया जा सकता है…कहा जाता है कि हिंदी फिल्मों में डांस के एक फार्म कि शुरुआत भी इन्‍होंने की थी … एक जमाना ऐसा था जब बड़े-बड़े सितारे इनसे मिलने के लिए लाइन लगाते थे …भगवान दादा बेहद लग्‍जरीयस लाइफ जीते थे लेकिन अचानक से इनकी जिंदगी बदल गई। आर्थिक तंगी हावी हो गई। गुजर बसर करने के लिए इन्‍हें छोटी-मोटी भूमिकाएं करनी पड़ी। अपनों ने भी साथ छोड़ दिया था। जिसके बाद 4 फरवरी, 2002 को 89 साल की उम्र में वह गुमनामी कि जिंदगी जीते हुए हमेशा के लिए इस दुनिया को अलविदा कह गए।

अभिनेता ए के हंगल का नाम भी इसमें शामिल है। कई फिल्‍मों में शानदार करेक्‍टर रोल प्‍ले करने वाले एके हंगल के नाम को आज कौन नहीं जानता है। उन्‍होंने फिलम इंडस्‍ट्री में कामयाब होकर एक लंबा वक्‍त गुजारा, लेकिन जीवन के आखिरी दिनों में इन्‍हें काफी संघर्ष करना पड़ा था। बेटे ने भी साथ नहीं दिया। जिससे ये नौबत आ गई थी कि इनके पास इलाज के लिए पैसे तक नहीं थे। ऐसे में एक दिन इनकी हालत के बारे में सुनकर अमिताभ बच्चन मदद के लिए आगे आए। उन्होंने 20 लाख रुपये इनके इलाज के लिए देने का वादा किया। इसके बाद एके हंगल ने 26 अगस्त, 2012 को 95 साल की उम्र में दुनिया को अलविदा कह दिया था।

बॉलीवुड एक्‍टर राज किरण ने ‘कर्ज’,’अर्थ’ और ‘तेरी मेहरबानियां’ जैसी यादगार फिल्में देकर लोगों के दिलों पर राज किया था। हालांकि बाद में गरीबी और गुमनामी ने अपनी चपेट में ले लिया था। उनके अपनो ने उनका साथ उस वक्‍त छो़ड़ दिया था जब उन्‍हें अपनेपन की सख्‍त जरूरत थी। 2010 में राज किरण से जुड़ा एक ऐसा मामला सामने आया जिसने हर किसी को चौका दिया। लोगों को मालूम पड़ा कि बीते कई सालों से राज किरण अमेरिका के अटलांटा स्‍थित पागल खाने में भर्ती थे। लोग एक इतने बडे स्‍टार की ऐसी लाइफ को जानकर हैरान थे। वहीं कई बार इनके मौत की भी खबरें आई। हालांकि आज तक उसकी पुष्‍टि नहीं हुई

बॉलीवुड की मशहूर एक्‍ट्रेस परवीन बाबी का नाम भी इसी सूची में शामिल हैं। परवीन बॉबी भी एक जमाने में हजारों दिलों की धड़कन थीं। 22 जनवरी 2005 को जब इनकी डेड बॉडी इनके अपार्टमेंट में मिली…तो लोग सकते में आ गए थे …और इनकी डेड बॉडी भी तब मिली, जब पड़ोसियों ने फोन करके पुलिस को सूचना दी कि लगातार तीन दिनों से वह अखबार और दूध नहीं ले रही हैं। बता दें कि वह मुंबई में लंबे समय से अकेली ही रहा करती थीं। धीरे-धीरे वह डिप्रेशन का शिकार हो गईं थी ..और उनको किसी से भी मिलना-जुलना पसंद नहीं आता था।

बॉलीवुड में 1935 के दौर में बिकिनी पहनकर पर्दे पर धमाल मचाने वाली एक्‍ट्रेस ललिता पवार भी इस सूची में शामिल हैं। 1990 में कैंसर का शिकार ललिता इलाज के लिए पुणे शिफ्ट हो गईं थीं … इन्‍हें भी जीवन के आखिरी पल अकेले ही गुजारना पड़ा था। 24 फरवरी 1998 को जब ललिता पवार की मौत हुई तब वो घर में अकेली थीं। 26 फरवरी 1998 को पति ने इन्‍हें फोन किया था तो किसी ने फोन नहीं उठाया। परिजनों ने आने के बाद पोस्टमार्टम कराया तो पता चला कि वो दो दिन पहले ही इस दुनिया को अलविदा कह गई थीं

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here