श्रीदेवी का रोमांटिक सफर

0
212

अपने पूरे करियर में श्रीदेवी ने जितनी चर्चा फिल्मों के लिए बटोरी उससे कहीं ज्यादा चर्चे उनके अफेयर्स के रहे। डालते हैं एक नजर श्रीदेवी की रोमांटिक सफर पर

श्रीदेवी ने फिल्म ‘सोलहवां साल ‘ से बॉलीवुड में कदम रखा। पहली फिल्म नाकामयाब रही लेकिन जब उन्हें जीतेन्द्र के साथ ‘हिम्मतवाला’ के लिए साइन किया गया तो श्रीदेवी रातोरात लाइमलाइट में आ गयी। बॉलीवुड में आने से पहले से ही श्रीदेवी जीतेन्द्र की बड़ी फैन थी। इसलिए जब उन्हें इस फिल्म का ऑफर मिला तो उनकी खुशी का ठिकाना नहीं रहा. श्रीदेवी को बॉलीवुड में रेखा का ऑप्शन बनाने पर तुले थे. ‘हिम्मतवाला’ जबरदस्त हिट रही और ये जोड़ी बॉलीवुड की हॉट केक बन गयी। जल्द ही दोनों के रोमांस के चर्चे भी आम हो गए। जीतेन्द्र को लेकर श्रीदेवी ने जब स्टारडस्ट में अपनी चाहत का खुलकर इजहार कर दिया तो जीतेन्द्र की पत्नी शोभा कपूर का धैर्य जबाव दे गया और दोनों के बीच काफी तनाव बढ़ गया. इस तनाव को दूर करने को लेकर जब जीतेन्द्र ने श्रीदेवी को अपने घर बुलाकर अपनी पत्नी से मिलवाया तो शोभा कपूर और बेटी एकता कपूर ने उनकी ऐसी खातिरदारी की जिसे श्रीदेवी सालो बाद भी नहीं भुला पाई और यही मुलाक़ात दोनों के बीच अलगाव की वजह भी बन गयी।

श्रीदेवी का करियर जैसे जैसे ऊपर चढ़ता रहा उन्हें जितेंद्र जैसे अभिनेता के सहारे की जरुरत ही नहीं रही. इस बीच श्रीदेवी का नाम मशहूर टेनिस खिलाड़ी अशोक अमृतराज के साथ जुड़ा। अमृतराज परिवार टेनिस के अलावा हॉलीवुड में भी काफी बड़ा नाम माना जाता है। अमृतराज का श्रीदेवी के प्रति क्रश को देखते हुए अमृतराज परिवार श्रीदेवी की माँ के पास उनका रिश्ता ले कर आया तो वो तैयार हो गयी। कहा जाता है कि सगाई के रस्म की तैयारियां शुरू होने के बाद अचानक श्रीदेवी ने इस रिश्ते में बंधने से इंकार कर दिया और बात यहीं ख़त्म हो गयी. अमृतराज के बाद ‘बॉम्बे’ फेम अभिनेता अरविन्द स्वामी की फैमिली ने भी श्रीदेवी की मा के पास अपने बेटे का रिश्ता भेजा था लेकिन उनकी उम्र काफी कम थी इसलिए श्रीदेवी ने इस रिश्ते से भी इंकार कर दिया.

1984 में बनी फिल्म “जाग उठा इंसान” के शूटिंग के दौरान बाद श्रीदेवी और मिथुन चक्रवर्ती के बीच प्यार के अंकुर फूट चुके थे.मिथुन दा श्रीदेवी से शादी करना चाहते थे {या कर चुके थे } जबकि श्रीदेवी की शर्त थी कि पहले वो अपनी बीबी योगिता बाली से तलाक ले लें तभी वो सार्वजनिक रूप से इस प्यार को स्वीकार करेंगी।मिथुन ने जब योगिताबाली पर तलाक का दबाव बढ़ाया तो योगिता ने आत्महत्या करने की कोशिश कर मिथुन दा के हौसलों को पस्त कर दिया। योगिता बाली हादसे के बाद से ही मिथुन और श्रीदेवी के बीच दूरियां बढ़नी शुरू हो गयी।

मिथुन और श्रीदेवी का रिश्ता टूटने के बाद दोनों के कॉमन फ्रेंड रहे बोनी कपूर श्रीदेवी के आस पास मंडराने लगे. सबसे पहले उन्होने श्रीदेवी को अपनी फिल्म “मि. इंडिया ” का ऑफर दिया लेकिन टालने के लिए श्री ने 10 लाख की डिमांड कर दी जो उस समय काफी बड़ी रकम मानी जाती थी। लेकिन बोनी पर तो श्रीदेवी का जादू इस कदर चढ़ा था कि उन्होंने हाँ कर दी.

जैसे-तैसे फिल्म बनी और हिट हो गयी। इसी बीच श्रीदेवी की मां बीमार हो गयी और उन्हें ईलाज के लिए अमेरिका ले जाना पड़ा जिसका सारा खर्च बोनी कपूर ने ही उठाया। बोनी कपूर की इस दरियादिली से प्रभावित श्रीदेवी ने भावावेश के किन्हीं क्षणों में अपना सबकुछ बोनी को सौंप दिया और श्रीदेवी ने शादी से पहले ही गर्भ धारण कर लिया। अब शादी दोनों की मजबूरी थी। श्रीदेवी से शादी करने के लिए बोनी ने पैसों की ताकत के बल पर अपनी पत्नी मोना से तलाकनामा हासिल भी कर लिया और रास्ता साफ़ होते ही दोनों ने शादी भी कर ली।आज बोनी कपूर आज्ञाकारी पति की तरह श्रीदेवी की फ़िल्मी इच्छाओं को परवान चढाने की कोशिशों में जुटे हुए हैं.
पिछले दिनों उनकी फिल्म मॉम रिलीज हुई जो भले ही बॉक्स ऑफिस पर ज्यादा कामयाबी साबित नहीं हुई लेकिन फिल्म श्रीदेवी की जबरदस्त एक्टिंग ने साबित कर दिया कि आज भी इस मामले में कोई उनके आस-पास भी नहीं फटक सकता.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here