क्या हुआ जब Shilpa Shetty की मां ने निर्देशक को पटाकर Sonali Bendre का रोल कटवाया

0
118

बॉलीवुड में फिल्मों और किरदारों को लेकर अभिनेत्रियों के बीच cat fight तो चलती ही रहती है लेकिन कभी कभी मम्मियां भी इस आग में घी डालने का काम करती हैं. वैसे तो मम्मियों का काम शूटिंग के दौरान सिर्फ बेटियों की रखवाली करना होता है लेकिन बॉलीवुड में कुछ मम्मियां ऐसी भी हैं जो डायरेक्टर्स से सांठ-गाँठ कर दूसरे कलाकारों का रोल कटवाने का काम भी करती हैं. 1994 में ऐसा ही आरोप सोनाली बेंद्रे ने शिल्पा शेट्टी की मां सुनंदा शेट्टी पर लगाया था .जाहिर है इस आरोप को शिल्पा ने काफी गंभीरता से लिया .

1994 में बनी फिल्म ‘आग’ में शिल्पा शेट्टी की एंट्री गोविंदा की मर्जी से हुआ जबकि सोनाली बेंद्रे निर्देशक के रवि चंदर की पसंद थी. निर्देशक सोनाली पर मेहरबान थे तो जाहिर है वो उनके किरदार को ज्यादा-से-ज्यादा फूटेज दे रहे थे .निर्देशक के इस पक्षपात से शिल्पा शेट्टी की मा सुनंदा काफी खफा थी लेकिन वो कर भी क्या सकती थी. इसलिए उन्होंने एक दूसरा ही रास्ता अपनाया .उन्होंने रवि चंदर से मेल-जोल बढ़ाना शुरू किया और धीरे -धीरे रवि चंदर को घर का खाना भी मिलने लगा. जब इतनी खातिरदारी हो रही हो तो भला किसका दिल नहीं पसीजेगा .रवि चंदर भी सुनंदा के झांसे में आ ही गए और धीरे-धीरे फिल्म में शिल्पा का रोल बढ़ता चला गया .

दो अभिनेत्रियों वाली इस फिल्म में हालांकि दोनों के हिस्से रोमांस करना और गाना गाने का ही काम था लेकिन इसी के लिए दोनों के बीच जबरदस्त तानातानी शुरू हो गई .जब सोनाली ने देखा की उन्हें जो स्क्रिप्ट सुनाई गई है उसके मुताबिक़ काम नहीं चल रहा तो उन्होंने सरे आम सुनंदा पर आरोप लगाते हुए कहा वो निर्देशक को पटाकर उनका रोल कटवा रही है. लेकिन जब तक सोनाली को इस बात का अहसास होता तब तक फिल्म कम्प्लीट हो चुकी थी .अब वो ना तो फिल्म छोड़ने की धमकी दे सकती थी और ना ही कुछ और कर सकती थी .खैर..अपनी मम्मी के खिलाफ सोनाली की इस बयानबाजी को शिल्पा ने हलके में नहीं लिया और इसी फिल्म के प्रीमियर दौरान एक-दुसरे से भिड गई. बाद में गोविंदा ने दोनों को समझा-बुझा कर शांत किया.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here