नहीं रही बॉलीवुड की शम्मी आंटी

0
122

89 वर्षीय दिग्गज अभिनेत्री शम्मी का निधन सोमवार देर शाम लंबी बीमारी के बाद मुंबई में हुआ. शम्मी आंटी पिछले कुछ समय से बीमार थीं. उन्होंने अपने जुहू सर्कल स्थित घर में अंतिम सांस ली. ओशिवारा कब्रिस्तान में उनका अंतिम संस्कार किया जाएगा.

शम्मी को हिंदी फिल्म इंडस्ट्री में उनके चाहते वाले शम्मी आंटी के नाम से संबोधित किया करते थे. उन्होंने 200 से ज्यादा फिल्मों के अलावा ‘देख भाई देख’, ‘जबान संभाल के’, ‘श्रीमान श्रीमति’, ‘कभी ये कभी वो’, फिल्‍मी चक्‍कर’ जैसे टीवी शोज में काम किया है. आखिरी बार फराह खान और बोमन ईरानी की फिल्म ‘शीरी फरहाद की तो निकल पड़ी’ में नजर आईं शम्मी का असली नाम नर्गिस राबदी था. शम्मी का वास्तविक नाम नरगिस था. वह पारसी थीं और दिग्गज बॉलीवुड फिल्मकार दिवंगत सुल्तान अहमद की पूर्व पत्नी थीं. वह आंटी, नानी, परिवार की बुजुर्ग महिला के किरदार निभाकर घर-घर में मशहूर हुईं. शम्मी ने मधुबाला, नर्गिस, दिलीप कुमार जैसे वेटरन के साथ भी काम किया है. 18 साल की उम्र में उन्होंने फिल्म ‘उस्ताद पेड्रो’ से अपने करियर की शुरुआत की थी. उनकी यादगार फिल्मों में ‘मल्हार’, ‘संगदिल’, ‘हाफ टिकट’, ‘जब जब फूल खिले’, ‘सजन’, ‘डोली’, ‘उपकार’, ‘इत्तेफाक’ जैसी फिल्में शामिल हैं.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here