Vidhata के Subhash Ghai के हाथों पिटे Sanjay Dutt ने Naam के प्रीमियर में ऐसे चुकाया हिसाब

0
102

बॉलीवुड में सुभाष घई जितने कामयाब रहे हैं उतने ही विवादास्पद भी .उनपर कास्टिंग काउच सहित कई अभिनेताओं के साथ लड़ाई-झगड़े के आरोप भी लगते रहे हैं.इस चक्कर में घई धर्मेन्द्र और राजेश खन्ना सहित कई अभिनेताओं से पिट भी चुके हैं.लेकिन इससे घई का रूतबा कम नहीं हुआ बल्कि पूरी दबंगई से वो अपना काम करते रहे .tit for tat की इस कड़ी में आज आपको बताते हैं कि कैसे फिल्म विधाता की शूटिंग के दौरान घई के हाथों थप्पड़ खा चुके संजय दत्त ने फिल्म नाम के प्रीमियर के दौरान सुभाष घई को धो डाला ..
विधाता दिलीप कुमार ,संजीव कुमार और शम्मी कपूर जैसे बड़े सितारों से सजी एक मल्टीस्टारर फिल्म थी। घई ने बड़ी मशक्कत के बाद इन बड़े सितारों को एक साथ अपनी फिल्म में इकट्ठा किया था. फिल्म में संजय दत्त भी काम कर रहे थे . संजू बाबा उन दिनों बुरी तरह ड्रग्स के शिकार हो चुके थे और सेट पर भी नशे में धुत्त रहते थे। जब भी उन्हें शॉट देने के लिए बुलाया जाता वो नशे में धुत्त रहते और सेट पर आने से ही इनकार कर देते। एक दिन संजय दत्त और पद्मिनी कोल्हापुरे के बीच रोमांटिक सीन फिल्माया जा रहा था. शूटिंग के दौरान बाबा ने पद्मिनी को कसकर पकड़ लिया जिससे पद्मिनी बुरी तरह घबरा गई और सेट छोड़ भाग गई। मजबूरन घई को शूटिंग बंद करनी पडी. इस वजह से उन्हें काफी नुक्सान हुआ।

अगले दिन भी संजय दत्त जब यही हरकत दोहराने लगे तो घई ने आपा खो दिया और एक जोरदार थप्पड़ संजय दत्त को जड़ दिया . यूनिट के बीच बचाव के बाद जैसे-तैसे फिल्म की शूटिंग पूरी की गई. .विधाता 1982 में रिलीज हुई और जबरदस्त हिट रही। इसके बावजूद घई ने संजय दत्त को अपनी अगली फिल्म ‘हीरो’ से निकाल बाहर किया और उनकी जगह जैकी श्रॉफ को कास्ट कर लिया।
विधाता के दौरान घटी इस घटना के कारण सुभाष घई और संजय दत्त के रिलेशन काफी तनावपूर्ण हो चुके थे. इसका क्लाइमैक्स तब सामने आया जब 1986 में फिल्म ‘नाम’ के डिस्ट्रीब्यूटर ने सुभाष घई को इस फिल्म के प्रीमियर में विशेष रूप से इनवाईट किया .फिल्म देखने के दौरान घई ने संजय दत्त पर एक भद्दा कमेन्ट किया जिसका जवाब देने में संजय दत्त ने देर नहीं लगाईं और वहां हंगामा खडा हो गया .
दरअसल सुभाष घई जब डिस्ट्रीब्यूटर के साथ बैठ कर फिल्म देख रहे थे तो संजय दत्त उनके पीछे ही खड़े थे. फिल्म में जब संजय दत्त का ड्रग्स सीन आया तो घई ने डिस्ट्रीब्यूटर से कहा -इस फ्लॉप चरसी एक्टर की फिल्म देख कर टाइम बर्बाद करने का कोई फायदा नहीं है .इससे बेहतर है कि मेरी फिल्म ‘कर्मा’ देखो .पूरे पैसे वसूल हो जाएँगे .इतना कहकर घई बाहर जाने के लिए उठ खड़े हुए .घई के पीछे खड़े संजय दत्त ने जब ये कमेन्ट सुना तो उन्हें काफी गुस्सा आया .उन्होंने बाहर निकल रहे घई का कॉलर पकड़ लिया और एक जोरदार तमाचा उन्हें रसीद कर दिया .संजय दत्त को आपा खोते देख राजेन्द्र कुमार ने उन्हें पकड़ा और थियेटर से बाहर ले गए .इस तरह विधाता के दौरान हुई अपनी फजीहत का संजय दत्त ने सुभाष घई से हिसाब चुकता कर लिया .

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here