जब दिलीप कुमार ने बीवी सायरा को मनोज कुमार की हीरोइन बनने के लिए मनाया

0
51
अभिनेता मनोज कुमार को बॉलीवुड में दिलीप कुमार की कॉपी माना जाता है. खुद मनोज कुमार भी इस बात से इंकार भी नहीं करते कि उनकी एक्टिंग स्टाइल पर दिलीप साहब का काफी असर है. दिलीप कुमार, मनोज कुमार को अभिनेता से ज्यादा एक सफल निर्देशक मानते हैं. फिल्म ‘उपकार’ की कामयाबी के बाद मनोज कुमार फिल्म ‘पूरब और पश्चिम’ का निर्माण करना चाहते थे और इस फिल्म में वो अपने साथ सायरा बानो को साइन करना चाहते थे, लेकिन सायरा इसके लिए राजी नहीं थी. तब दिलीप कुमार ने सायरा को इस फिल्म में काम करने के लिए मनाया.

साल 1970 की एक सुबह मनोज कुमार दिलीप कुमार के बंगले पर पहुंचे. दिलीप साहब ने सोचा शायद मनोज उन्हें किसी फिल्म में साइन करने का ऑफर लेकर आए हैं. मनोज ने ‘पूरब और पश्चिम’ बनाने का ऐलान कर दिया था. शायद इसी वजह से दिलीप साहब के जेहन में ये ख्याल आया होगा. लेकिन जब मनोज कुमार ने उनके सामने सायरा जी को अपनी फिल्म में साइन करने का इरादा जाहिर किया तो दिलीप साहब सन्न रह गए. सायरा बानो उन दिनों फिल्मों से लगभग संन्यास ले चुकी थी और कभी-कभी दिलीप कुमार के साथ ही फ़िल्में कर रही थी. इसलिए सायरा ने इस फिल्म का ऑफर ठुकरा दिया. मनोज कुमार को हताश देख दिलीप कुमार ने सायरा को मनोज कुमार की काबिलियत बताते हुए उन्हें समझाया कि ये फिल्म उन्हें जरूर करनी चाहिए.

उन्हीं के मशवरे पर सायरा बानो ने इस फिल्म में काम करना स्वीकार कर लिया. जाते-जाते दिलीप कुमार ने मनोज कुमार से कहा कि उन्हें लगा कि वो मुझे साइन करने आए हैं. हालाँकि बात मजाक में ही कही गई थी लेकिन मनोज कुमार ने इसे मजाक में नहीं लिया. साल 1980 की एक सुबह मनोज कुमार एक बार फिर दिलीप कुमार के बंगले पर जा धमके. इससे पहले कि दिलीप साहब कुछ कहते मनोज कुमार ने साफ़ कर दिया कि इस बार वो उन्हें ही साइन करने आए हैं. ये फिल्म थी ‘क्रांति’ जिसमें दिलीप कुमार ने मनोज कुमार के निर्देशन में काम किया था.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here