जब काका के सफेद कार को चूमकर लाल कर देती थी लड़कियां ! Bollywood Aajkal

0
2438

जब भी हम राजेश खन्ना को याद करते हैं तो उनका एक डायलॉग जेहन में गूंज उठता है- ‘पुष्पा… आई हेट टियर्स. रोमांस के ‌किंग राजेश खन्ना की आज डेथ एनिवर्सरी है. राजेश खन्ना बॉलीवुड के पहले सुपरस्टार थे. उनके चार्म को टक्कर देने वाला स्टार अभी तक नहीं पैदा हुआ. आज हम आपको राजेश खन्ना के कुछ ऐसे अनछुए पहलुओं के बारे में बता रहे हैं जो उनके जिंदा रहने पर शायद ही किसी ने सुना हो.

राजेश खन्ना का वास्तविक नाम जतिन खन्ना है. अपने अंकल के कहने पर उन्होंने नाम बदल लिया.1969 से 1975 के बीच राजेश ने कई सुपरहिट फिल्में दीं. उस दौर में पैदा हुए ज्यादातर लड़कों के नाम राजेश रखे गए. फिल्म इंडस्ट्री में राजेश को प्यार से काका कहा जाता था. जब वे सुपरस्टार थे तब एक कहावत बड़ी मशहूर थी- ऊपर आका और नीचे काका.

राजेश ने फिल्म में काम पाने के लिए निर्माताओं के दफ्तर के चक्कर लगाए. स्ट्रगलर होने के बावजूद वे इतनी महंगी कार में निर्माताओं के यहां जाते थे कि उस दौर के हीरो के पास भी वैसी कार नहीं थी. लड़कियों के बीच राजेश खन्ना बेहद लोकप्रिय थे. लड़कियों ने उन्हें खून से खत लिखे. उनकी फोटो से शादी तक कर ली. कुछ ने अपने हाथ या जांघ पर राजेश का नाम गुदवा लिया.

कई लड़कियां उनका फोटो तकिये के नीचे रखकर सोती थीं. स्टूडियो या किसी निर्माता के दफ्तर के बाहर राजेश खन्ना की सफेद रंग की कार रुकती थी तो लड़कियां उस कार को ही चूम लेती थी. लिपिस्टिक के निशान से सफेद रंग की कार गुलाबी हो जाया करती थी.

जिस शख्स के पीछे पूरे इंडिया की लडकियां दीवानी घूम रही थी वही काका ज़िन्दगी भर प्यार के लिए तरसते रहे .शुरुआत में खन्ना का रिलेशन अंजू महेन्द्रू से जिन्होने खन्ना के पैर बॉलीवुड में जमाने के लिए उनकी काफी मदद की थी .अंजू खुद एक्ट्रेस बनना चाहती थी लेकिन खन्ना को ये पसंद नहीं था .यही दोनों के रिश्ते टूटने की वजह भी बनी .खन्ना इस अलगाव से इतने नाराज थे कि उन्होंने अंजू को जलाने के लिए अपनी और डिंपल की बरात अंजू महेन्द्रू के घर के सामने से निकलवाई.

1973 में उन्होंने डिम्पल कपा़डिया से प्रेम विवाह किया. डिंपल कपाडिया का खन्ना प्रेम पूरी तरह अपरिपक्व मेल था जिसने तीन साल बाद से ही असर दिखाना शुरू कर दिया.डिंपल फिल्मों में वापसी करना चाहती थी लेकिन ये खन्ना को मंजूर नहीं था . बाद में दोनों अलग-अलग रहने लगे. डिंपल के बाद टीना मुनीम भी राजेश खन्ना की ज़िंदगी में आईं. एक ज़माने में राजेश खन्ना ने कहा था कि वह और टीना एक ही टूथब्रश का इस्तेमाल करते हैं. वह अपनी हर फ़िल्म में टीना मुनीम को लेना चाहते थे. उन्होंने टीना मुनीम के साथ कई फ़िल्में कीं. लेकिन खन्ना टीना से कोई कमिटमेंट नहीं करना चाहते थे इसलिए एक दिन टीना भी उन्हें छोड़कर वापस चली गई .

लगातार फ्लॉप होती फिल्मों और अकेलेपन ने खन्ना को बुरी तरह तोड़ कर रख दिया .तन्हाई के ऐसे ही किन्हीं क्षणों खन्ना वापस अंजू महेन्द्रू के पास वापस लौटे लेकिन तब तक खन्ना ज़िन्दगी की दौर से काफी आगे निकल चुके थे .अंजू लौटी तो डिंपल भी लौटी लेकिन तब तक राजेश खन्ना की शराबनोशी ने उन्हें उस मुकाम पर पहुंचा दिया था जहां किसी का साथ कोई मायने नहीं रखता .आखिरकार एक दिन काका दुनिया का रंजोगम समेटे खामोशी से दुनिया को अलविदा कह गए .

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here