अपनी बहु-बेटियों के फिल्मों में आने के खिलाफ रहे Raj Kapoorक्यों karishma को बनाना चाहते थे ‘हीरोइन

0
646

कपूर खानदान का घोषित रिवाज था कि इस खानंदान की बहु-बेटियां फिल्मों में काम नहीं कर सकती। राज साहब के रहते ये बात पत्थर की लकीर थी और इसे सबने माना भी। लेकिन करिश्मा कपूर को लेकर खुद राज साहब की सोच थी कि ये स्टार मैटेरियल है और इसे फिल्मों में जरूर जाना चाहिए। ये काम कोई और करे इससे बेहतर है कि करिश्मा को राज साहब ही अपनी सरपरस्ती में फिल्मों में लांच करें। हालाँकि इस योजना में अगर ऋषि कपूर ने टांग ना अड़ाया होता तो करिश्मा की शुरुआत आर के बैनर से ही होती।

दरअसल फिल्म हिना को लेकर राज कपूर का ये प्लान था कि इसमें हीरो कपूर फैमिली से बाहर का हीरो होगा और उसकी हीरोइन करिश्मा होगी। लेकिन उनकी इस योजना का तीनों बेटों ने जबरदस्त विरोध किया। उनका कहना था कि जब परिवार में ही इतने एक्टर हैं तो बाहर से लाने की क्या जरूरत है? इससे उनकी साख पर भी बट्टा लग जाएगा। काफी सोच-विचार के बाद जब ऋषि कपूर का नाम फाइनल किया गया तो करिश्मा कपूर का पत्ता साफ़ हो गया क्योंकि करिश्मा ऋषि की हीरोइन नहीं हो सकती थी. करिश्मा ने अपनी पहली फिल्म ‘प्रेम कैदी’ की रिलीज से पहले दिए गए इंटरव्यू में इसका खुलासा खुद ही किया था. करिश्मा ने कहा, “में ‘हिना’ फिल्म में कास्ट होने वाली थीं, लेकिन इसमें बतौर एक्टर ऋषि कपूर को कास्ट किया जा रहा था। ऐसे में उन्हें फिल्म से हाथ धोना पड़ा था।

करिश्मा कपूर ने इस बारे में बात करते हुए आगे कहा कि- मैं ‘हिना’ में अपने पिता के साथ काम करना चाहती थी। लेकिन दुर्भाग्य से मेरे चाचा फिल्म के हीरो थे। जाहिर सी बात है कि मैं उनके अपॉजिट काम नहीं कर सकती हूं।बता दें कि फिल्म ‘हिना’ की शूटिंग पूरी होने से पहले ही राज कपूर ने इस दुनिया को अलविदा कह दिया था। ऐसे में उनकी जगह करिश्मा कपूर के पिता रणधीर कपूर ने फिल्म का निर्देशन पूरा किया था। इस फिल्म में ऋषि कपूर के साथ जेबा बख्तियार और अश्विनी भावे भी मुख्य भूमिका में नजर आए थे। यह फिल्म सुपरहिट साबित हुई थी।


दोस्तों ! बॉलीवुड आजकल में हम बॉलीवुड के अनसुने किस्से आपके सामने लाते हैं. अगर आप बॉलीवुड के बोल्ड और मसालेदार न्यूज के शौक़ीन हैं तो आप हमारा नया चैनल ‘All Filmy.जरूर visit करें. चैनल का लिंक Description में मौजूद है. धन्यवाद

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here