जब अमरीकी पुलिस ने Parveen Babiको जबरन पागलखाने में धकेला,एक्ट्रेस ने President पर दायर किया मुकदमा

0
309

जब परवीन अपने करियर के पीक में थी। उसी दरमियाँ साल 1983 में वह अमेरिका ओशो के आश्रम पहुंच गई थीं। ये वही समय था जब उनकी बीमारी की शुरुआत हो रही थी।परवीन बॉबी ने 1983 में ही भारत छोड़ दिया और आध्यात्म की तलाश में अपने दोस्तों के साथ अमेरिका चली गईं। उस वक्त परवीन बॉबी का करियर ऊंचाइयों पर था। इस दौरान उन्होंने कई देशों की यात्रा की।बता दें कि 1984 में परवीन के साथ न्यूयॉर्क के एक एयरपोर्ट पर जो कुछ हुआ। वह बेहद भयानक था और उनके अंदर के डर और बीमारी को बढ़ाने की वजह बन गया।जी हां न्यूयॉर्क के जेफके एयरपोर्ट से पुलिस ने परवीन के बर्ताव में कुछ अजीब चीजें देखीं थी। इसके बाद उन्हें रूटीन चेकअप के लिए कहा गया, लेकिन परवीन ने मना कर दिया।इसके बाद न्यूयार्क पुलिस उन्हें बेड़ियां डालकर पागलखाने ले गई। 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here