जब मधुबाला के शादी से मना करने पर रोने लगे शम्मी कपूर

0
634

मधुबाला अपने दौर की बला की खूबसूरत अभिनेत्री थी। इंडस्ट्री में ही उनके लाखों दीवाने थे लेकिन मधुबाला केवल काम से काम रखती थी. पिता अयातुल्लाह खान सोने की अंडे देने वाली अपनी इस बेटी से साये की तरह चिपके रहते थे. शूटिंग ख़त्म होते ही वो मधुबाला को गाड़ी में बैठाते और सीधे घर रवाना हो जाते। लेकिन पिता की इस पहरेदारी के बावजूद मधुबाला ने दिलीप कुमार से दिल लगा ही लिया लेकिन दोनों ने इस रोमांस को परदे में ही रखा. शुरुआत में उनके इस रिश्ते की जानकारी बहुत कम लोगों को थी और शम्मी कपूर भी ऐसे ही लोगों में शामिल थे. इसलिए जब उन्हें फिल्म ‘रेल का डिब्बा’ में पहली बार मधुबाला’ के साथ काम करने का मौक़ा मिला तो शम्मी कपूर मधुबाला पर बुरी तरह फ़िदा हो गए.

शम्मी कपूर अपने दौर के सबसे हैंडसम अभिनेता माने जाते हैं. उनकी को-स्टार अभिनेत्रियां शम्मी के साथ रोमांस की ख्वाहिश रखती थी. खैर…’रेल का डिब्बा’ के दौरान शम्मी कपूर मधुबाला के काफी करीब आ गए। हालाँकि उन्होंने मधुबाला के सामने अपनी इस एकतरफा चाहत का इजहार नहीं किया। मधुबाला शम्मी कपूर के करियर को आगे बढ़ाने के लिए जिस तरह दिलचस्पी ले रही थी उससे शम्मी को लगा कि मधुबाला भी उन्हें चाहती है. और एक दिन उन्होंने मधुबाला के सामने इजहारे-मुहब्बत कर ही दिया। लेकिन मधुबाला इसे शम्मी की चुहलबाजी मानकर चुप लगा गयी।

शम्मी कपूर मधुबाला से शादी करना चाहते थे लेकिन मधुबाला उन्हें ज्यादा तवज्जो नहीं दे रही थी। इस बात से दुखी शम्मी ने अपनी मां से गुजारिश की कि वो उनकी तरफ से शादी का प्रस्ताव मधुबाला के पास लेकर जाए, लेकिन उनकी मा ने इससे साफ़ इंकार कर दिया। मां की नाराजगी के बावजूद शम्मी ने हार नहीं मानी और एक दिन खुद जा कर मधुबाला के सामने शादी का प्रस्ताव रख दिया जिसे मधुबाला ने उसी समय ठुकरा भी दिया। शम्मी द्वारा कारण पूछे जाने पर मधुबाला ने शायद पहली बार शम्मी के सामने दिलीप कुमार के प्रति अपनी चाहत का इजहार किया. ‘नकाब’ दोनों की एक साथ चौथी फिल्म थी लेकिन इतने अरसे तक शम्मी कपूर मधुबाला के दिल का हाल समझ नहीं पाए और उनसे एकतरफा प्यार करते रहे. ये एहसास होने के बाद शम्मी को अपनी नादानी पर बेहद गुस्सा आया।

दिलीप कुमार और मधुबाला के प्यार की बात जानने के शम्मी ने रास्ते से हटना ही बेहतर समझा. हालाँकि मधुबाला हमेशा उनका ख्याल रखती रही और उन्होंने शम्मी का करियर संवारने के लिए अपनी खुद की प्रोडक्शन बनाकर चार फिल्मों का निर्माण भी किया वो भी तब जब शम्मी कपूर की हैसियत इंडस्ट्री में पृथ्वीराज कपूर के बेटे से ज्यादा कुछ नहीं थे. शम्मी के प्रति अपने इस लगाव के कारण मधुबाला को काफी आर्थिक नुक्सान उठाना पड़ा और अंततः उनकी कम्पनी बंद हो गयी.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here