ऐसे हुआ राज कपूर और वैजयंतीमाला का संगम

0
95

राज कपूर और दिलीप कुमार कॉलेज के दिनों के दोस्त थे फिर भी बॉलीवुड में दोनों के बीच कड़ी प्रतियोगिता चलती थी. उन दिनों वैजयंतीमाला को दिलीप कुमार के खेमे की हीरोइन माना जाता था .राज कपूर ने जब फिल्म ‘संगम’ बनाने का प्लान बनाया तो उनके दिमाग में हीरोइन के रूप में सबसे पहला नाम वैजयंतीमाला का ही आया लेकिन वैजयंती उन दिनों केवल दिलीप कुमार के साथ ही फ़िल्में करती थी. इसलिए राज कपूर जानते थे कि वैजयंती इस फिल्म में काम करने के लिए आसानी से तैयार नहीं होगी. फिर भी उन्होंने वैजयंती को टेलीग्राम कर फिल्म के बारे में जानकारी देते हुए कहा कि ‘ वो उन्हें इस फिल्म में राधा के रोल में साइन करना चाहते हैं. लेकिन वैजयंती ने राज कपूर के इस टेलीग्राम का कोई जवाब नहीं दिया.

राज कपूर काफी दिनों तक वैजयंती के जवाब का इंतज़ार करते रहे .आखिरकार राज कपूर ने एक और टेलीग्राम वैजयंती को करते हुए कहा कि ‘उनकी मर्जी के बगैर ही उन्होंने उन्हें अपनी राधा मान लिया है .अब वो बताएं की संगम होगा कि नहीं ? शायद वैजयंती को राज कपूर का ये अंदाज़ काफी पसंद आया और उन्होंने जवाब देते हुए कहा कि संगम होगा होगा और जरूर होगा. जल्द ही वैजयंती फिल्म संगम का अंग बन गई .राज कपूर ने इस सिचुएशन में भी गाना ढूंढ लिया और उन्होंने खुद और वैजयंती पर एक गाना फिल्माया ‘बोल राधा बोल संगम होगा कि नहीं’ .वैजयंती के इस फिल्म में शामिल होने से बॉलीवुड के समीकरण ही बदल गए .’संगम’ ने ना केवल वैजयंती के दिलीप कुमार खेमे से अलगाव का ऐलान कर दिया बल्कि इस फिल्म के बाद राज कपूर और वैजयंती का रोमांस भी शुरू हो गया .

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here