जानिए ! ढाबे पर नौकरी करने वाले संजय मिश्रा कैसे बने स्टार

0
238

दोस्तों ! ‘ऐसे बने स्टार’ सीरिज में हम आपको बॉलीवुड सितारों के संघर्ष की जानकारी आपके सामने लाते हैं. इस कड़ी में हम आज एक ऐसे एक्टर की बात करेंगे जो कभी ढाबे पर काम करता था .लेकिन रोहित शेट्टी की एक नजर ने इनकी ज़िन्दगी बदलकर रख दी. आज ये एक्टर बॉलीवुड में काफी ऊँचे मुकाम पर पहुँच चुका है .ये अभिनेता हैं संजय मिश्रा …

बिहार के दरभंगा में जन्मे सजंय जब नौ साल के थे तो उनकी फैमिली वाराणसी शिफ्ट हो गई थी। संजय ने अपनी एजुकेशन वाराणसी से केंद्रीय विद्यालय बीएचयू कैम्पस से की।इसके बाद इन्होंने बैचलर की डिग्री साल 1989 में पूरी करने के बाद 1991 में राष्ट्रीय ड्रामा स्कूल में एडमिशन लिया।संजय मिश्रा ने सीरियल चाणक्य से अपने करियर की शुरुआत की थी। बता दें कि करियर के शुरुआती दिनों में ही संजय के पिता की डेथ हो गई थी।इसके बाद संजय का मन एक्टिंग में नहीं लगा जिसके बाद वे मुंबई न जाकर उत्तराखंड (तब उत्तर प्रदेश) के ऋषिकेश चले गए। यहां वे एक ढाबे पर काम करने लगे।संजय की लाइफ और करियर में टर्निंग प्वाइंट तब आया जब रोहित शेट्टी ने उन्हें अपनी फिल्म ‘गोलमाल’ में काम करने का ऑफर दिया। कहा जाता है कि इसके बाद भी संजय फिल्मों में काम नहीं करना चाहते थे लेकिन रोहित ने ही अपनी अगली फिल्म ‘ऑल द बेस्ट’ में एक बार काम करने का ऑफर दिया। इसके बाद तो फिर संजय ने पलटकर नहीं देखा।कभी मुफलिसी में दिन बिताने के लिए मजबूर हुए संजय मिश्रा आज करीब 20 करोड़ के मालिक हैं।आज संजय के पास फॉर्च्यूनर और BMW जैसी लक्जरी गाड़ियां हैं। पटना और मुंबई में कई घर हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here