Abhishek Bchchan को स्टार बनाने के चक्कर में Amitabh bachchan ने Bony को किया बर्बाद

0
82

बॉलीवुड में पुरानी पीढी के अभिनेताओं के मुकाबले नई पीढी को ज्यादा सफलता नहीं मिली. सनी देओल को छोड़ दें तो कोई भी स्टार सन अपनी ख़ास पहचान नहीं बना पाया .अमिताभ बच्चन के साहेबजादे अभिषेक बच्चन का नाम भी इस लिस्ट में शामिल है.लेकिन अपने इस बेटे का करियर बनाने के लिए अमिताभ बच्चन ने अपना जोर खूब लगाया .हालाँकि उनकी इस कोशिश में कई निर्माता बुरी तरह बर्बाद हो गए .दरअसल अमिताभ अभिषेक का करियर संवारने के लिए अपने स्टेटस का फायदा उठाते थे और फिल्मों में अभिषेक बच्चन को काम देने का दबाव बनाते थे .बोनी कपूर बिग बी के इस दबाव में आ गए और अपनी सारी जमा पूंजी लुटा बैठे .क्या था मामला .आइये जानते हैं..

साल 2004 में बोनी कपूर विवेक ओबेराय और ऐश्वर्या राय के साथ फिल्म ‘क्यूँ हो गया ना’ बना रहे थे .इस फिल्म के लिए उन्होंने अमिताभ बच्चन को एक ख़ास रोल के लिए अप्रोच किया लेकिन बच्चन ने इसे ठुकरा दिया .बोनी ने भी हिम्मत नहीं हारी और बार-बार उन्हें अप्रोच करते रहे .इस तरह अमिताभ बच्चन ने इस फिल्म को दस बार ठुकराया .बोनी जैसे जिद्द पर अड़े थे .अंत में उन्होंने अमर सिंह से संपर्क किया जिनका बोनी और अमिताभ दोनों से अच्छा सम्बन्ध था. अमर सिंह के बीच में आने के बाद अमिताभ इस शर्त पर इस फिल्म में काम करने के लिए तैयार हुए कि उन्हें अपनी अगली फिल्म में अभिषेक को लेना होगा .बोनी मान गए .

साल 2000 में आई ‘रिफ्यूजी से लेकर साल 2003 तक अभिषेक बच्चन 13 फिल्मों में काम कर चुके थे और ये सभी फ़िल्में एक लाइन से फ्लॉप साबित हुई थी .ऐसे में अभिषेक बच्चन को लेकर फिल्म बनाना बोनी कपूर के लिए ख़ुदकुशी से कम नहीं था .लेकिन बोनी वादे से बंधे थे इसलिए उन्होंने फिल्म ‘रन’ में अभिषेक को भूमिका चावला के साथ कास्ट किया .लेकिन ये फिल्म अभिषेक की पिछली सभी फिल्मों से ज्यादा फ्लॉप साबित हुई .क्यों हो गया ना भी फ्लॉप थी .लगातार दो फिल्मों की असफलता ने तो बोनी को कंगाल ही बना दिया .बोनी पूरी तरह क़र्ज़ में डूब चुके थे .इस स्थिति से बाहर निकलने के लिए उन्हें सलमान खान का सहारा लेना पडा .साल 2005 में आई फिल्म ‘नो एंट्री’ की कामयाबी ने बोनी को क़र्ज़ से बाहर निकाला .

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here