जब घायल हेमा मालिनी को लेकर अस्पताल पहुंचे सनी देओल

0
472
हेमा मालिनी और सनी देओल के बीच जमी बर्फ डिंपल कपाडिया के कारण पिघली. लेकिन इस बर्फ को पिघलने में 12 सालों का लंबा समय लगा. धर्मेंद्र और हेमा मालिनी ने साल 1980 में शादी की थी. दोनों के परिवारों के बीच कोई बातचीत या मेलजोल नहीं था. दोनों परिवार अपने-अपने घरों में मगन थे और धर्मेंद्र पेंडुलम की तरह इधर-उधर दिन गुजारते थे. साल 1992 में जब हेमा ने फिल्म ‘दिल आशना है’ के जरिये निर्देशन के क्षेत्र में कदम रखा तो इस फिल्म में उन्होंने डिंपल कपाडिया को भी लिया. सनी और डिंपल उन दिनों रिलेशन में थे. इस फिल्म के एक सीन को लेकर हेमा मालिनी और सनी देओल के बीच बातचीत की शुरुआत हुई थी.

दरअसल बातचीत का ये सिलसिला एशा देओल के कारण आगे बढ़ा. एशा धर्मेंद्र के दूसरे परिवार में सिर्फ अभय देओल से ही बात करती थी. एक दिन एशा ने जब अभय से सनी से मिलाने को कहा तो अभय देओल जिद्द कर सनी को हेमा के घर ले आये. तब से हेमा और सनी के तालुक्कात थोड़े बेहतर हो गए थे. कुछ साल पहले बागपत में एक रोड एक्सीडेंट के दौरान हेमा बुरी तरह घायल हो गई और doctors ने उन्हें मुंबई रेफर कर दिया. धर्मेंद्र उन दिनों न्युयोर्क में थे.

सनी ने जब हेमा मालिनी के रोड एक्सीडेंट की बात सुनी तो बागपत से मुंबई के लिए आ रही हेमा को लेने एयरपोर्ट पर खुद जा पहुंचे और वहां से उन्होंने हेमा को पिक अप कर ब्रीचकैंडी अस्पताल में भर्ती करवाया और तब तक वहीं जमे रहे जब तक धर्मेंद्र वहां पहुंच नहीं गए. ये एक ऐसा वाकया था जो धर्मेंद्र के दिल को छू गया और व अस्पताल में ही सनी को बांहों में भर कर रोने लगे. बाद में पता चला कि सनी अपनी मां और धर्मेंद्र की दूसरी पत्नी प्रकाश कौर की जिद्द पर हेमा को लेने एयरपोर्ट गए थे.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here