आखिर हीरो न.1से जीरो न.1कैसे बन गए Govinda

0
126

बॉलीवुड एक्टर गोविंदा(Govinda) फिल्म इंडस्ट्री में एक सुपरस्टार के तौर पर जाने जाते हैं लेकिन इनके सुपरस्टार रहने का जो दौर था वो वो काफी कम समय तक के लिये बना रहा। यूं समझ लीजिए कि वे सुपरस्टार बनें तो मगर अपने इस स्टारडम को ज्यादा समय तक बरकरार नहीं रख पाए। इसके पीछे का सबसे बड़ा कारण था गोविंदा का गलत डिसीजन जो उनके लिए भारी पड गया।तो आइये जानते हैं वो कौन से कारण थे जिसने बॉलीवुड के इस हीरो न.1 को जीरो न.1 बना दिया

गोविंदा की अगर बात की जाए तो उनके लिए हमेशा से सपोर्टिग रोल प्ले करना एक इश्यू रहा है, भले ही कुछ फिल्मों में उन्होंने सहकलाकार की भूमिका निभाई हो मगर वे 56 साल की उम्र में भी लीड एक्टर बनने की कोशिश में लगे रहते हैं जबकि अनिल कपूर और संजय दत्त जैसे उनके साथी कलाकार सपोर्टिग रोल कर के आज भी सक्सेसफुल हैं इसलिये आज के समय में गोविंदा के पास कोई भी सुपरहिट मूवी नहीं है।

जब गोविंदा का सितारा बुलंदियों पर था तब उन्होनें राजनीति में भी पैर जमाने की कोशिश की । उन्होनें कांग्रेस पार्टी की तरफ से चुनाव लड़ा और जीते भी मगर इसके बाद उनका फिल्मी सफर जैसे कहीं थम सा गया, उन्होंने फिल्मों में वापसी तो की मगर गोविंदा का वो पुराना जादू कहीं गायब हो गया।

बॉलीवुड इंडस्ट्री में गोविंदा और डेविड धवन की जोड़ी श्रेष्ठ एक्टर-डायरेक्टर की जोड़ी के नाम से पहचाने जाने लगी। मगर डेविड धवन के साथ भी उनका ईगो हमेशा आगे रहा। जिसके चलते गोविंदा का मनमुटाव हो गया। बता दें कि दोनों ने साथ में करीब 20 फिल्में की जिसमें शोला और शबनम, कुली नंबर 1 और हीरो नंबर 1 जैसी फिल्में शामिल हैं।

एक समय ऐसा था जब गोविंदा और सलमान खान की दोस्ती की मिसाल बॉलीवुड में छाई रहती थी। लेकिन इनके बीच भी अचानक हुआ मनमुटाव हर किसी को हैरान कर गया। ऐसा माना जाता है कि सलमान खान ने गोविंदा से इस बात का वादा किया था कि वो उनकी बेटी को वे दबंग फिल्म में ब्रेक देंगे लेकिन सलमान ने ऐसा नहीं किया जिसके बाद गोविंदा संग उनकी दोस्ती में दरार आ गई। मामला चाहें जो भी हो मगर इसकी भरपाई गोविंदा को ही उठानी पड़ी।

आज जहां गोविंदा के समय के एक्टर जैसे कि अनिल कपूर, संजय दत्त, सनी देओल और अजय देवगन अपनी फिटनेस और फिजीक की वजह से इंडस्ट्री में एक वजूद रखते हैं, वहीं एक समय इन सबसे ज्यादा फॉलोइंग रखने वाले एक्टर गोविंदा इस रेस में कहीं पीछे नज़र आते हैं। अगर गोविंदा ने अपनी फिटनेस पर ध्यान दिया होता तो शायद वो आज लीड एक्टर के तौर पर नजर भी आ सकते थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here