आखिर अपने मेंटॉर डेविड धवन से इतनी नफरत क्यों करते हैं गोविंदा !

0
86

एक समय ऐसा था जब डेविड धवन और गोविंदा की जोड़ी सफलता की गारंटी तो थी ही साथ ही एंटरटेनमेंट का ओवरडोज भी होती थी. मगर एक समय ऐसा भी आया जब दोनों कलाकारों के बीच बातचीत बंद हो गई. लगभग 17 फिल्मों में एक साथ काम कर चुके डेविड और गोविंदा आज एक -दुसरे को देखना तक नहीं चाहते .आखिर कैसे आई इस रिश्ते में इतनी तल्खी ? आइये जानते हैं …

गोविंदा से डेविड धवन को संजय दत्त ने मिलवाया था. गोविंदा के मुताबिक़ डेविड धवन मेरे पास आए थे. वो मुझे अच्छे लगे, मुझे लगा कि इनके साथ बहुत सारी हिट फिल्में दे सकता हूं. मैंने सोचा कि चलो काम करते हैं.गोविंदा ने कहा- मैंने उनके साथ जैसा रिश्ता निभाया है वैसा तो मैं अपने किसी रिश्तेदार के साथ भी नहीं कर पाया. मेरे भाई डायरेक्टर हैं अभी तक मैं उसके साथ 17 फिल्में नहीं कर पाया. जिस वक्त मैं उनके साथ 17 फिल्में कर चुका था तो मैंने उन्हें चश्मेबद्दूर का सब्जेक्ट सुनाया. उन्होंने वो फिल्म ऋषि कपूर के साथ शुरू कर दी.
गोविंदा ने कहा, राजनीति से निकलने के बाद मैं थोड़ा बदल गया था. तब मेरे सेक्रेटरी डेविड धवन के साथ थे, मैंने उनसे कहा था कि फोन स्पीकर पर रखना, जो भी डेविड कहे मैं खुद सुनना चाहता हूं. उस दौरान डेविड कह रहे थे- चीची बहुत सवाल पूछने लग गया है. इतने सवाल कि मेरा दिल नहीं है उसके साथ काम करूं. उसे बोलो कहीं छोटा मोटा रोल मिल जाए तो कर ले. तब मेरा दिल टूट गया और मैंने कुछ महीनों के लिए उनसे बात नहीं की.

दोनों ने साथ में साजन चले ससुराल, बड़े मिया छोटे मिया, कुली नंबर 1, शोला और शबनम, आंखें और राजा बाबू जैसी फिल्मों में काम किया. इन फिल्मों को दर्शकों ने खूब पसंद भी किया.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here