साल 2017 में भी महिला केंद्रित फिल्मों का रहा दमदार जलवा ! Bollywood Aajkal

0
379

बॉलीवुड महिला केन्द्रित फिल्मों में मुख्य भूमिका में अभिनेत्रियों का नजर आने का सिलसिला लंबे अरसे से चला आ रहा है. इसी क्रम में साल 2017 में भी ऐसी कई फिल्में आयी जो पूरी तरह महिला केंद्रित रही. जो पर्दे पर छाई रही. भले ही इनकी फिल्मे सुपर हिट न रही हो. मगर इन्होने अभिनेता रहित फिल्मों के परंपरा को जारी रखा. जी हां, इस साल का हिंदी फिल्म कैलेंडर इस बात दर्शा रहा है कि हिंदी सिनेमा के नामी अभिनेत्रियों के बीच कई नए नामों ने इस साल अपनी दमदार मौजूदगी दर्ज करवाई जिसमे विद्या बालन, स्वरा भास्कर, सोनाक्षी सिन्हा, श्रद्धा कपूर, तापसी पन्नू और जाहिरा वसीम का नाम इसमें प्रमुख है.

महिला केन्द्रित फिल्म को जबरदस्त अंदाज में पेश करने वाली दमदार अभिनेत्री विद्या बालन ने वर्ष २०१७ की दो फिल्म बेगम जान और तुम्हारी सुलू में नजर आई. दोनों ही फिल्मों में विद्या बालन वर्तमान में महिलाओं के कई मुद्दों से जुडी समस्याओं को दर्शाया है.

स्वरा भास्कर स्टारर यह फिल्म अनारकली ऑफ आरा बिहार के आरा जिले की एक साहसी गायिका के संघर्ष की कहानी है, जो एक हादसे का शिकार होती है. फिर समाज के सामने अपनी आवाज बुलंद करती है. इस फिल्म का टाइटल की तरह कहानी भी रोचक है. अगर आप किस ऐसी अनारकली की कहानी देखना चाहते हैं, जो अपने प्रेमी नहीं बल्कि खुद के लिए आवाज उठाती है, यह फिल्म उन महिलाओं के लिए प्रेरणा है जो मुश्किल भरे हालत में आपने हक़ की लड़ाई लड़ती है.

बेबी में शबाना का छोटा मगर पावर पैक किरदार निभाना तापसी पन्नू को नाम सबाना में एक जिम्मेदार ऑफिसर के किरदार निभाकर फिल्म को महिला केन्द्रित फिल्म श्रेणी में ला दिया. फिल्म में मुंबई में रहने वाली शबाना (तापसी पन्नू) का सारा ध्यान अपनी कॉलेज की पढ़ाई पर है. वह जूडो चैम्पियन है. शबाना गुस्सैल हैं, लेकिन अक्सर अपने गुस्से को पी जाती है और ऐसा वह अतीत में हुई घटना के कारण करती है. फिल्म में शबाना जय नाम के लड़के से प्यार करती है. जय और शबाना एक बार डेट पर जाते हैं. लौटते समय चार लड़के उनके रास्ते में आ जाते हैं. ये सभी नशे में हैं और शबाना के साथ दुर्व्यवहार करते हैं. शबाना जोरदार तरीके से उनसे लड़ाई करती है. फिल्म में अक्षय कुमार कैमियो रोल में है.

साल 2017 की फिल्म नूर सबा इम्तियाज के उपन्यास कराची, आई लव यू पर आधारित है. सोनाक्षी सिन्हा इस फिल्म में रिपोर्टर की भूमिका में थी. जो आज की कामकाजी महिलाओं की समस्याओं और परिस्थितियों पर आधारित कहानी है. जिसमे नूर के किरदार में सोनाक्षी सिंहा के कराची जाने के दौरान हो रही घटनाओं को दिखाया गया है. अकीरा और फोर्स 2 में एक्शन किरदार निभाने के बाद रिपोर्टर के रुप में एक महिला केन्द्रित फिल्म में नजर आई.

मुंबई अंडरवर्ल्‍ड डॉन दाऊद इब्राहिम की बहन हसीना पारकर पर निर्मित फिल्म हसीना द क्वीन आफ मुंबई भी एक ज्वलंत मुद्दे पर एक महिला केंद्रीत फिल्म रही. जिसमे दाउद की बहन हसीना पारकर का किरदार में श्रद्धा कपूर नजर आई थी.

दंगल फिल्म में बेहतरीन किरदार निभाने वाली जाहिरा वसीम को आमिर खान की होम प्रोडक्शन फिल्म सीक्रेट सुपरस्टार में मुख्य भूमिका रही. यह कहानी एक ऐसी लड़की की है ,जो परिवार के खिलाफ जाकर सिंगर बनना चाहती है.

निर्देशक हंसल मेहता की सिमरन फिल्म में कंगना रनौत एक तलाकशुदा महिला के किरदार में है. इस फिल्म की कहानी में सिमरन 30 की हो गई है, तलाकशुदा है, यूएस में रहती है और मां-बाप उसकी दूसरी शादी करना चाहते हैं. होटल में हाउसकीपिंग का काम करने वाली अपने मां-बाप से तंग आकर एक अलग घर खरीदने के लिए पैसे जमा करती. एक बार वह लास वेगास स्थित केसिनो पहुंच जाती है और जुए में सारी रकम हार जाती है. एक गुंडे से पैसे लेकर फिर दांव लगाती है, लेकिन किस्मत साथ नहीं देती. गुंडा अपने पैसों के लिए उसके पीछे पड़ जाता है. हार कर सिमरन बैंक लूट कर पैसे जमा करती हुई तमाम परिस्थियों से जूझते हुए एक महिला के जीवन को दर्शाया गया है.
बता दें कि पिछले साल 2016 में भी अपने दिलकश परफॉर्मेंस से यह सभी अभिनेत्रियां महिला केंद्रित फिल्मों की परंपरा को बरकरार रखा. जिसमे निल बट्टे सन्नाटा, पिंक, कहानी 2, नीरजा, अकीरा जैसी फिल्मों में जानी मानी अभिनेत्रियों ने अपने किरदार की जिम्मेदारी बखूबी निभाई है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here