इन समलैंगिक फिल्मों को लेकर हो चुका है जबरदस्त विवाद

0
29
भारत में समलैंगिकता हमेशा से एक गंभीर मुद्दा रहा हैं, जिसके बारे में समाज ने कभी भी खुलकर बात नहीं की. अब तो भारत के सुप्रीम कोर्ट ने भी इस रिश्ते पर मोहर लगा दी. लेकिन बॉलीवुड में इस मुद्दे पर काफी पहले से फ़िल्में बनती रही हैं और हंगामे का शिकार होती रही हैं. आइए डालते हैं समलैंगिकता पर बनी हिंदी फिल्मों पर एक नजर…

साल 1996 में आई दीपा मेहता की फिल्म ‘फायर’ में दो निराश शादीशुदा महिलाओं के बीच प्रेम संबंध बन जाता है. दोनों रिश्ते में जेठानी-देवरानी होती हैं. शबाना आजमी और नंदिता दास ने ये किरदार निभाए थे. लोगों ने इसे भारतीय सभ्यता को नुकसान पहुंचाने वाली फिल्म बताते हुए इसका विरोध किया था फिल्म को बैन कर दिया गया था. यहां तक की शबाना-नंदिता को जान से मारने की धमकी भी मिली थी.

साल 2005 में आई फिल्म ‘माई ब्रदर निखिल’ की कहानी एक स्वीमिंग चैंपियन की है, जो समलैंगिक है और एचआईवी जैसी गंभीर बीमारी का शिकार हो जाता है. उसे स्वीमिंग टीम से बाहर कर दिया जाता है. फिल्म में संजय सूरी ने लीड रोल निभाया था. जूही चावला उनकी बहन बनी थीं.
साल 2004 में आई फिल्म ‘गर्लफ्रेंड’ में लेस्बियन रिश्ते पर प्रकाश डाला गया. इसमें दो सहेलियों की कहानी थी जिनके बीच यौन संबंध थे. फिल्म में अश्लील दृश्यों को लेकर काफी बवाल मचा था. फिल्म में समलैंगिक का किरदार रिया सेन और ईशा कोप्पिकर ने निभाया था.

साल 2007 में आई रीमा कागती की फिल्म ‘हनीमून ट्रेवल प्राइवेट लिमिटेड’ में समलैंगिक कपल को दिखाया गया था जो कि फिल्म का रोचक हिस्सा थे. फिल्म में दिखाने की कोशिश की गई थी ‘गे’ व्यक्ति की शादी अगर गलत आदमी से हो जाती है तो उसके जीवन में क्या मुसीबतें आती हैं.
साल 2008 में मधुर भंडारकर द्वारा निर्देशित फिल्म ‘फैशन’ फैशन इंडस्ट्री की काली सच्चाई आपके सामने ला कर रख देती है. इस फिल्म में कंगना रानौत और प्रियंका चोपड़ा ने लीड रोल निभाया था. फिल्म में फैशन इंडस्ट्री के अलावा समलैंगिकता के मुद्दे को भी खूबसूरती उठाया गया है.

साल 2015 में रिलीज हुई फिल्म ‘मार्गरीटा विद अ स्ट्रॉ’ एक साथ कई मुद्दों को छूती है. फिल्म में मुख्य किरदार कल्कि कोचिन ने निभाया है जो कि सेरेबल पैलसी नाम की बीमारी से पीड़ित हैं. फिल्म में जब कल्कि विदेश पढ़ने जाती हैं तब वो अपने आप को एक्सप्लोर करती है और उन्हें पता चली है कि वह बाई-सेक्चुअल है.
2016 में आई फिल्म ‘कपूर एंड सन्स’ में फवाद खान ‘गे’ हैं पर समाज के डर से इस बात को छुपाते हैं. जब इस बारे में घरवालों को पता चलता है तो वो उसे पाप समझ बैठते हैं. इस पूरी कशमकश से जूझते हुए एक शख्स की कहानी को फिल्म में दिखाया गया है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here