दवा नहीं दुआओं से बची Amitabh Bachchan की जान,doctors भी रह गए हैरान

0
627

अमिताभ बच्चन के साथ हुए हादसे की पिछली कड़ी में आपने जाना की 1 अगस्त को उनकी तबीयत में सुधार था जबकि 2 तारीख को अचानक उनकी कंडीशन फिर बिगड़ गई। शरीर में जहर फैलने की वजह से डॉक्टर्स ने दोबारा ऑपरेशन किया, जो 3 घंटों तक चला। ये ऑपरेशन नाकामयाब रहा। बंगलौर के डॉक्टर्स ने पूरी तरह अपने हाथ खड़े कर दिए.
बीमार बच्चन को बेंगलुरु से मुंबई लाने के बारे में विचार होने लगा. सभी को लगा की मुंबई में उन्हें बेहतर इलाज मिल सकेगा. आखिरकार उन्हें एयर एंबुलेंस से मुंबई लाया गया। मुंबई के ब्रीच कैंडी अस्पताल में बच्चन के एक के बाद एक कई ऑपरेशन किये गए।बिग बी की हालत काफी गंभीर थी, उन्हें दवाओं के साथ दुआओं की भी जरूरत थी। इसलिए देशभर में उनके लिए प्रार्थनाएं शुरू हो गई। धार्मिक स्थलों में लोग अमिताभ की सलामती की दुआ मांगने के लिए उमड़ पड़े। इन दुआओं ने असर दिखाया और आखिरकार उनके स्वास्थ्य में सुधार आने लगा ।16 अगस्त को अंततः अमिताभ की सेहत में सुधार हुआ। वो खाने-पीने लगे और कुछ कदम चलने भी लगे, लगातार उनकी सेहत में सुधार होता गया। 24 सितंबर के दिन आखिरकार अमिताभ को ब्रीच कैंडी अस्पताल से छुट्टी मिल गई।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here