विद्या सिन्हा : दो शादियों के बावजूद अकेली है ये अभिनेत्री

0
1268
15 नवंबर, 1947 को निर्माता मोहन सिन्हा के घर जन्मी विद्या सिन्हा अभिनेत्रियों की उस क़तर में शामिल थी जो एक्टिंग को देह दर्शन नहीं बल्कि कला का माध्यम मानती थी. फिल्मों में आने से पहले से ही विद्या सिन्हा शादीशुदा थी. उन्होंने सिनेमा में बासु चटर्जी अपनी फिल्म ‘राजा काका’ से लेकर आये जिसमें किरण कुमार उनके हीरो थे. लेकिन उन्हें सफलता मिली फिल्म ‘रजनीगंधा’ से जो काफी सफल रही.

बॉलीवुड में विद्या सिन्हा की इमेज एक साड़ी में लिपटी शालीन, संस्कारी भारतीय लड़की की थी और वो अपनी इसी इमेज से खुश भी थी. विद्या सिन्हा ने 12 सालों में कुल 30 फिल्मो में कम किया और उन्होंने सिनेमा को अलविदा कह दिया. 80 का दशक आते आते, विद्या की इमेज के किरदारों की मांग जैसे बॉलीवुड से ख़त्म ही हो गई और विद्या ने भी चुपचाप एक्टिंग से किनारा कर लिया.

साल 1996 में पति वेंकटेश्वरन अय्यर की मौत के बाद वह लौटीं और टीवी सीरियल बहू रानी तथा काव्यांजलि में दिखाई दीं. उन्होंने डॉक्टर एन शालुंके से शादी भी कर ली. दोनों ने एक बच्ची भी गोद ली. साल 2009 में सिन्हा ने शालुंके के खिलाफ मानसिक और शारीरिक प्रताड़ना का आरोप लगाते हुए शिकायत दर्ज कराई. बाद में दोनों में तलाक हो गया है और कोर्ट ने शालुंके को पुत्री के पालन-पोषण के लिए दस हजार रुपये महीना देने का आदेश दिया. इन दिनों वो कई टीवी धारावाहिकों में नज़र आती हैं और दर्शक उन्हें धारावाहिक ‘कुबूल है’ में दादी के रोल से पहचानते हैं.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here